Chitrakote Bypoll Result: विधानसभा में BJP मुक्त हुआ बस्तर, कांग्रेस ने किया क्लीन स्वीप
Bastar News in Hindi

Chitrakote Bypoll Result: विधानसभा में BJP मुक्त हुआ बस्तर, कांग्रेस ने किया क्लीन स्वीप
कांग्रेस से छत्तीसगढ़ के कैबिनेट मंत्री टीएस सिंहदेव जहां झारखंड में कांग्रेस के चुनाव छानबीन समिति के अध्यक्ष हैं.

चित्रकोट उपचुनाव (Chitrakote Byelection) में जीत के साथ कांग्रेस (Congress) ने बस्तर (Bastar) संभाग की विधानसभा (Assembly) की सभी 12 सीटें जीत ली हैं.

  • Share this:
बस्तर. छत्तीसगढ़ विधानसभा (Chhattisgarh Assembly) के बस्तर (Bastar) जिले के चित्रकोट उपचुनाव (Chitrakote Bypoll) के नतीजे (Result) आ चुके हैं. इस सीट पर कांग्रेस (Congress) प्रत्याशी राजमन वेंजाम (Rajman Venjam) को 17 हजार से अधिक वोटों से बड़ी जीत मिली है. इस सीट पर दूसरे नंबर पर बीजेपी (BJP) के लच्छूराम कश्यप को कांग्रेस के 62 हजार 50 वोटों के मुकाबले 44 हजार 197 वोट मिले हैं. चित्रकोट उपचुनाव (Chitrakote Byelection) के बाद विधानसभा में अब बीजेपी मुक्त बस्तर हो गया है. बस्तर संभाग की विधानसभा की सभी 12 सीटों पर अब कांग्रेस का कब्जा है.

चित्रकोट उपचुनाव (Chitrakote Byelection) के तहत गुरुवार को जगदलपुर (Jagadalpur) के पॉलीटेक्निक कॉलेज में मतगणना हुई. सुबह 8 बजे से शुरू हुई मतगणना (Counting of votes) में शुरू से ही कांग्रेस (Congress) प्रत्याशी राजमन वेंजाम को बढ़त रही. बस्तर (Bastar) संभाग में हाल ही में हुए दंतेवाड़ा उपचुनाव (Dantewada Bypoll) में भी कांग्रेस प्रत्याशी देवती कर्मा को बड़ी जीत मिली थी. देवती कर्मा ने 11 हजार से अधिक वोटों से बीजेपी प्रत्याशी ओजस्वी मंडावी को हराया था. इसके बाद अब चित्रकोट उपचुनाव में भी कांग्रेस को बड़ी जीत मिली है.

बीजेपी के लिए थी एकमात्र उम्मीद
बता दें कि विधायक भीमा मंडावी की हत्या के बाद खाली हुई दंतेवाड़ा सीट पर बीते सितंबर महीने में ही उपचुनाव हुए. इस उपचुनाव में बीजेपी ने अपनी दंतेवाड़ा सीट गंवा दी थी.इसके बाद बस्तर में बीजेपी की एकमात्र उम्मीद चित्रकोट सीट बची थी, जिसमें शुरुआती रूझानों में कांग्रेस के प्रत्याशी आगे थे. अब ये सीट भी बीजेपी ने गंवा दी है. गौरतलब है कि चित्रकोट सीट पर विधानसभा चुनाव 2018 में कांग्रेस के दीपक बैज को जीत मिली थी. लोकसभा चुनाव 2019 में बस्तर सीट से दीपक बैज के सांसद निर्वाचित होने के बाद से ये सीट खाली हुई थी.
ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ का वो गांव जहां 7 दिन पहले ही मनाई जाती है दिवाली, जानें वजह 



ATM में किसी से मदद ले रहे हैं तो सावधान! ऐसे निशाना बनाते हैं ठग  
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज