छत्तीसगढ़: लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस में प्रदेश अध्यक्ष की तलाश तेज

अंदरखाने से मिली जानकारी के अनुसार आला कमान पीसीसी चीफ के लिए आदिवासी कार्ड खेल सकती है.

News18 Chhattisgarh
Updated: June 11, 2019, 10:14 AM IST
छत्तीसगढ़: लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस में प्रदेश अध्यक्ष की तलाश तेज
छत्तीसगढ़ में नए प्रदेश अध्यक्ष को लेकर तलाश तेज.
News18 Chhattisgarh
Updated: June 11, 2019, 10:14 AM IST
विधानसभा में मिली शानदार जीत के बाद कांग्रेस को लोकसभा चुनाव में करारी हार का सामना करना पड़ा. अब छत्तीसगढ़ कांग्रेस में संगठन के शीर्ष नेतृत्व में बदलाव की सुगबुगाहट तेज हो गई है. संगठन के शीर्ष नेताओं का कैबिनेट मंत्री बनने के बाद छत्तीसगढ़ संगठन का आकार कैसे रहेगा, इस पर सियासी गलियारे में कई कयास लगाए जा रहे है. मालूम हो कि छत्तीसगढ़ में 15 सालों के लंबे संघर्ष के बाद सत्तासीन होने वाली कांग्रेस पार्टी को जल्द नया मुखिया यानि की प्रदेश अध्यक्ष मिल सकता है. वर्तमान पीसीसी चीफ भूपेश बघेल के मुख्यमंत्री बनने के बाद से ही शुरू हुई इस तलाश में अब तेजी आई है. कांग्रेस के सत्तासीन होने पर पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल को सूबे का मुखिया बनाया गया. इसके तुरंत बाद से ही अगला पीसीसी चीफ कौन होगा इसकी तलाश शुरू हो गई थी. लेकिन लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली करारी हार के बाद अब नए पीसीसी चीफ की तलाश तेज हो गई है. अंदरखाने से मिली जानकारी के अनुसार आला कमान पीसीसी चीफ के लिए आदिवासी कार्ड खेल सकते है. कांग्रेस महामंत्री महेंद्र छाबड़ा का कहना है कि वर्तमान में कांग्रेस अध्यक्ष मुख्यमंत्री भी हैं. इस वजह से लगातार बदलाव के कयास लगाए जा रहे हैं. संगठन और निचली इलाकों को मजबूत करने के लिए परिवर्तन की प्रक्रिया चलती रहती है.

इसलिए हो रही है पीसीसी चुनने में परेशानी

कांग्रेस आला कमान को पीसीसी चीफ चुनने में इसलिए भी परेशानी हो रही है क्योंकि छत्तीसगढ़ कांग्रेस के भीतर खुद घमासान चला रहा है, इसे साधना भी एक बड़ी चुनौती है. साथ ही आदिवासी बाहुल्य राज्य में आदिवासी को प्राथमिकता देना, सत्ता और संगठन के बीच बेहतर तालमेल बैठाना, सभी को साथ लेकर चलना, आगामी नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव में पार्टी का बेहतर प्रदर्शन करना भी नए प्रदेश अध्यक्ष के सामने चुनौती होगी. इसके साथ ही पीसीसी चीफ के अलावा कई मंत्री संगठन में महामंत्री के पद पर आसीन है. इसलिए भी पीसीसी के चयन में परेशानी आ सकती है.

प्रदेश अध्यक्ष पर राजनीति भी

प्रदेश अध्यक्ष चयन पर दूसरे राजनीतिक दल कांग्रेस पर हमलावर तेवर में दिखाए दे रहे है. बीजेपी तो सीधे पीसीसी चीफ भूपेश बघेल पर हमला बोल रही है. बीजेपी प्रवक्ता गौरीशंकर श्रीवास का कहना है कि लोकसभा चुनाव की कमान कांग्रेस ने प्रदेश अध्यक्ष और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को ही सौंपी थी. बीजेपी ने लोकसभा में मिली हार के बाद सीएम भूपेश बघेल को इस्तीफा दे देने की नसीहत भी दे रही है. वहीं जेसीसीजे प्रवक्ता इकबाल रिजवी का कहना है कि अगर सफलता चाहिए जो जड़ों को मजबूत करने की जरूरत है. ग्रासरूट कर पहुंचने वाला दल ही सफल होता है.

 

ये भी पढ़ें: गरियाबंद से लापता बच्ची की मिली लाश, पानी की टंकी से बरामद हुआ शव
ये भी पढ़ें:  राहुल गांधी से नहीं हुई सीएम भूपेश बघेल की मुलाकात, पीसीसी अध्यक्ष चयन पर दिया ये बयान 

ये भी पढ़ें: सुरक्षा बल ने संगीन वारदातों में शामिल नक्सली को बीजापुर से किया गिरफ्तार 

ये भी पढ़ें:  प्रसिद्ध फिल्म अभिनेता गिरीश कर्नाड का निधन, सीएम भूपेश बघेल ने जताया शोक 

ये भी पढ़ें: मिक्की मेहता हत्याकांड: SIT ने गृह विभाग को सौंपी 1400 पन्नों की जांच रिपोर्ट 

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स     
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...