Home /News /chhattisgarh /

आचार संहिता खत्म होते ही एक्शन मोड में सीएम भूपेश बघेल, समीक्षा बैठक में दिया ये अहम निर्देश

आचार संहिता खत्म होते ही एक्शन मोड में सीएम भूपेश बघेल, समीक्षा बैठक में दिया ये अहम निर्देश

दंतेवाड़ा में रहे आदिवासियों के आंदोलन पर सीएम भूपेश बघेल ने एक बड़ा बयान दिया है.

दंतेवाड़ा में रहे आदिवासियों के आंदोलन पर सीएम भूपेश बघेल ने एक बड़ा बयान दिया है.

सीएम बघेल ने अब तक के कार्यों की समीक्षा की. साथ ही विभागों को कई अहम निर्देश भी दिए.

    छत्तीसगढ़ से आचार संहिता खत्म होने के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एक्शन मोड में आ गए हैं. सीएम बघेल ने वन विभाग और परिवहन विभाग की समीक्षा बैठक ली. वन विभाग की समीक्षा बैठक नया रायपुर के अरण्य भवन में हुई. इस बैठक में वन मंत्री मोहम्मद अकबर सहित विभाग के तमाम आला अधिकारी शामिल हुए. परिवन विभाग की बैठक में नया रायपुर स्थित मंत्रालय में हुई. इस बैठक में भी विभाग के आला अधिकारी शामिल हुए. दोनों विभाग की समीक्षा बैठक में सीएम बघेल ने अधिकारियों से कई मुद्दों पर चर्चा की. सीएम बघेल ने अब तक के कार्यों की समीक्षा की. साथ ही कई अहम निर्देश भी विभागों को दिए.

    लघु वन उद्योग स्थपित करने के निर्देश
    मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने वन विभाग की बैठक में एक अहम फैसला दिया. सीएम बघेल ने लघु वन उद्योग को स्थापित करने निर्देश दिए हैं. 1 माह के भीतर उद्योगों की स्थापना के लिए प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश मुख्यमंत्री ने दिए हैं. साथ ही नदियों के किनारे फलदार वृक्षारोपण और उसकी सुरक्षा करने के भी निर्देश दिए गए हैं. मालूम हो कि 44 फीसदी वन आच्छादित वाले राज्य छत्तीसगढ़ में लघुवनोपज के प्रोसेसिंग के लिए अब जल्द ही उद्योगों की स्थापना की जाएगी.

    शनिवार को वन विभाग की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस बात के निर्देश दिए कि लघुनवोपज के प्रोसेसिंग के लिए अधिक से अधिक उद्योग लगाए जाए जिससे ना केवल स्थानीय आदिवासियों को लाभ मिले बल्कि राज्य का नाम भी रौशन हो. उद्योगों के स्थापना के लिए सीएम ने एक माह के भीतर प्रस्ताव बनाकर देने की बात कही. मीडिया से बात करते हुए सीएम बघेल ने इस बात पर दुख जताया कि जिस छत्तीसगढ़ में 44 फीसदी वन हो, जहां लघुवनोपज की भरमार हो वहां प्रोसेसिंग के लिए आज तक एक भी उद्योग की स्थापना नहीं की जा सकी है. वहीं बैठक में नदियों के किराने फलदार वृक्षारोपण अभियान में सुरक्षा के साथ तेजी लाने के भी निर्देश सीएम बघेल ने दिए हैं.

    सरकार की पैनी नजर ड्राइविंग लाइसेंस पर
    जुगाड़ से बनने वाले ड्राइविंग लाइसेंसों से छत्तीसगढ़ सरकार परेशान हो गई है. परिवहन विभाग की समीक्षा बैठक में सीएम भूपेश बघेल ने जुगाड़ से बनने वाले ड्राइविंग पर रोक लगाने के सख्त निर्देश दे दिए हैं. परिवहन विभाग की समीक्षा बैठक में सीएम बघेल ने कड़े शब्दों में अधिकारियों को ये निर्देश दिए. अब वाहन चालकों को प्रशिक्षण के बाद ही लाइसेंस जारी करने के भी निर्देश जारी किए गए हैं. नया रायपुर स्थित आरण्य भवन में परिवहन विभाग की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने ये फैसला लिया. इस बैठक में परिवहन मंत्री मोहम्मद अबकर सहित विभाग के आला अधिकारी मौजूद रहे.

    ये भी पढ़ें:

    बीजापुर से दो स्थायी वारंटी नक्सली गिरफ्तार, संगीन वारदातों में शामिल होने का आरोप 

    सोनिया गांधी चुनी गईं कांग्रेस संसदीय दल की नेता, सीएम भूपेश बघेल ने ट्वीट कर दी बधाई 

    घर में सो रहे परिवार पर हाथी ने किया हमला, 17 साल की किशोरी की मौत 

    देखिए क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 में टीम इंडिया से क्या है रायपुर के लोगों को उम्मीद 

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स       

    Tags: Bhupesh Baghel, Chhattisgarh news, Congress, Forest department, Public Transportation, Raipur news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर