• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • RAIPUR CM BHUPESH BAGHEL HAS INSTRUCTED THE REMOVAL OF SURAJPUR COLLECTOR RANBIR SHARMA IMMEDIATELY NODARK

लॉकडाउन चेकिंग के दौरान युवक को थप्पड़ मारना और मोबाइल तोड़ना कलेक्टर को पड़ा भारी, CM ने दिया हटाने का आदेश

सीएम के निर्देश के बाद कलेक्टर को हटा दिया गया है.

मुख्‍यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने लॉकडाउन चेकिंग के दौरान युवक को थप्पड़ मारने के साथ उसका मोबाइल तोड़ने वाले सूरजपुर के कलेक्टर रणबीर शर्मा (Collector Ranbir Sharma) को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिए हैं.

  • Share this:
रायुपर. छत्तीसगढ़ के मुख्‍यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने सूरजपुर के कलेक्टर रणबीर शर्मा (Collector Ranbir Sharma) को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिए हैं. इसके साथ उन्‍होंने कहा कि सोशल मीडिया के माध्यम से सूरजपुर कलेक्टर द्वारा एक युवक से दुर्व्यवहार का मामला मेरे संज्ञान में आया है. यह बेहद दुखद और निंदनीय है. छत्तीसगढ़ में इस तरह का कोई कृत्य कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

इसके साथ छत्त्तीसगढ़ शासन ने रायपुर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी गौरव कुमार सिंह को सूरजपुर जिले का नया कलेक्टर पदस्थ किया है, तो वहीं रणबीर शर्मा को कलेक्टर सूरजपुर से स्थानांतरित करते हुए तत्काल प्रभाव से मंत्रालय में संयुक्त सचिव के पद पर पदस्थ किया गया है.

कलेक्टर ने नहीं सुनी युवक की बात
कलेक्टर ने अपनी 'दादागिरी'  दिखाते हुए न सिर्फ युवक को थप्पड़ मारा बल्कि हाथ से मोबाइल छीन कर पटक दिया. जब कलेक्टर रणबीर शर्मा का इतना से भी मन नहीं भरता है तो वे उस युवक से बदतमीजी से पेश आते हुए बगल में खड़े सिपाही को मारने के आदेश भी दे देते हैं. ऐसे में सिपाही भी बीच सड़क पर डंडे से युवक की बेरहमी से पिटाई करने लगता है. इस दौरान युवक बार-बार सफाई देता है कि वह दवाई खरीदने के लिए जा रहा है, लेकिन उसकी एक न सुनी जाती है और उलटे उसे डंडे पड़ते हैं.


यही नहीं, इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद हर कोई कलेक्टर रणबीर शर्मा के इस व्यवहार को लेकर खिंचाई कर रहा है. जबकि इस वीडियो में कलेक्‍टर अन्‍य लोगों को भी धमकाते हुए दिख रहे हैं. वहीं, मामले के तूल पकड़ने पर सूरजपुर कलेक्टर रणबीर शर्मा ने वीडियो जारी कर माफी मांगी है. उन्होंने कहा है कि सालभर से मैं और मेरा पूरा अमला मेहनत कर रहे हैं. मैं और मेरे माता-पिता भी कोविड की चपेट में आये थे, इसे भलीभांति समझता हूं. व्यक्ति पर शारीरिक रूप से क्या बीतती है. उन्होंने आवेश में आकर थप्पड़ मारने की बात कही और क्षमा मांगी है. कलेक्टर ने कहा कि किसी के अपमान करने का मेरा मकसद नहीं था. आवेश में आकर मैंने हाथ उठाया जिसके लिए क्षमाप्रार्थी हूं.

पीड़ित युवक ने कही ये बात
पीड़ित युवक अमन मित्तल ने कहा कि मेरी दादी कोविड में भर्ती हैं, मैं उनके लिए खाना लेकर और ब्लड टेस्ट कराने गया था. मैं वापस आ रहा था, वहां मुझे रोका, मैं पर्ची निकाल रहा था इस दौरान मुझे डंडा मारा. मैं कलेक्टर साहब को पर्ची दिखाने गया तो बोले ठीक है जाओ. फिर मुझे बुलाया और मेरा फोन पटक दिया और मुझे थप्पड़ मारने के साथ पुलिस वालों से भी पिटवाने लग गए. इसके साथ बोले की मुझ पर एफआईआर करेंगे. मेरी गाड़ी भी ले गए.