CM भूपेश बघेल बोले- 16499 क्वारंटाइन सेंटर तैयार, रुक सकेंगे 5 लाख से ज्यादा प्रवासी मजदूर
Raipur News in Hindi

CM भूपेश बघेल बोले- 16499 क्वारंटाइन सेंटर तैयार, रुक सकेंगे 5 लाख से ज्यादा प्रवासी मजदूर
सीएम भूपेश बघेल ने ये जानकारी दी है.

सीएम भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने कहा कि सरकार की पूरी कोशिश है कि मई तक श्रमिकों की वापसी हो जाए और मानसून के सक्रिय होने से पहले इनका क्वारंटाइन अवधि समाप्त हो.

  • Share this:
रायपुर. देशभर में आज श्रमिकों (Migrant Workers) की क्या स्थिति यह किसी से छुपी नहीं है. आलम यह है कि श्रमिक-मजदूर हजारों किलोमीटर पैदल ही सफर तय कर रहे हैं. जिस सड़क को अपने लंबे होने का गुमान था श्रमिकों ने उसे पैदल ही नाप दिया. आज करीब हर नेशनल और स्टेट हाइवे पर पैदल चलते हुए मजदूर आपको आसानी से नजर आ जाएंगे. ये जिस राज्य से भी होकर गुजर रहे हैं वहां कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है. ना केवल पैदल चलने वाले मजबूरों से बल्कि अपने राज्य लौटने वालों से भी कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है.

दरअसल छत्तीसगढ़ में लगातार यह बात उठ रहा था कि लाखों की संख्या में श्रमिकों का छत्तीसगढ़ लौटना शुरू हो चुका है. हजारों की संख्या में प्रवासी मजदूर राज्य में सफर तय कर रहे हैं. ऐसे संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए इन्हें कैसे क्वारंटाइन किया जाएगा. इन तमाम सवालों और अटकलों पर उस वक्त विराम लग गया जब सूबे के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेशभर में 16499 क्वारंटाइन सेंटर बनाने की जानकारी दी. साथ ही मुख्यमंत्री ने सीमावर्ती क्षेत्रों में भी 614 क्वारेंटीन सेंटर बनाने की बात साझा की.

536515 श्रमिकों को रखने के इंतजाम



छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जिन 16499 क्वारंटाइन सेंटर्स का जिक्र किया उनकी क्षमता 5 लाख 6 हजार पांच सौ पंद्रह है. मसलन छत्तीसगढ़ के वे तमाम श्रमिक जो अन्य राज्यों में फंसे हुए हैं जिनके वापसी का सिलसिला शुरू हो चुका है. साथ ही प्रवासी श्रमिकों को अब क्वारंटाइन करने की समस्या नहीं होगी. मुख्यमंत्री ने यह भी जानकारी दी हैं कि मौजूदार समय में 42350 श्रमिकों को इन केंद्रों में रखा गया है.
बारिश के मौसम में होगी बड़ी समस्या

सीएम भूपेश बघेल ने न्यूज 18 के सवाल पर दिया जवाब कि प्रदेशभर में जिन 16499 क्वारंटाइन सेंटरों का निर्माण किया गया है उस सेंटरों में बारिश के मौसम में परेशानी होने की संभावना जताई जा रही है. गर्मी के दिनों में तो व्यवस्था हो गई. मगर बारिश में व्यवस्था को लेकर खुद मुख्यमंत्री चिंतित है. गुरूवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पत्रकारों से चर्चा के दौरान न्यूज 18 के सवाल परc जाए ताकी बारिश के मौसम में किसी तरह की समस्या ना हो.

ये भी पढ़ें: 

रेड जोन मुंबई से बालोद पहुंचा 23 साल का युवक कोरोना पॉजिटिव, संक्रमितों की कुल संख्या हुई 60 

Weather Update: तेज आंधी के साथ बारिश का अलर्ट, अगले 48 घंटे में तूफान की आशंका!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज