• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • CM भूपेश बघेल ने कहा- मोटर व्हीकल एक्ट ऐसे लागू करेंगे, जिससे जनता को तकलीफ न हो

CM भूपेश बघेल ने कहा- मोटर व्हीकल एक्ट ऐसे लागू करेंगे, जिससे जनता को तकलीफ न हो

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश के लिए नया मोटर व्हीकल एक्ट में जुर्माने के प्रावधान को लेकर राज्य सरकार द्वारा ही निर्णय लेने की बात कही है.

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश के लिए नया मोटर व्हीकल एक्ट में जुर्माने के प्रावधान को लेकर राज्य सरकार द्वारा ही निर्णय लेने की बात कही है.

सीएम भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने कहा- मोटर व्हीकल एक्ट को लेकर परीक्षण करा रहे हैं. छत्तीसगढ़ की जनता को कोई तकलीफ नहीं देना चाहते.

  • Share this:
रायपुर. मोटर व्हीकल एक्ट 2019 (Motor Vehicle Act 2019) के लागू होने के बाद भारी भरकम चालान काटे जाने को लेकर देशभर में चर्चाओं का दौर है. इस बीच छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने प्रदेश के लिए नया मोटर व्हीकल एक्ट में जुर्माने (Fine) के प्रावधान को लेकर राज्य सरकार द्वारा ही निर्णय लेने की बात कही है. सीएम भूपेश ने साफ कहा कि सरकार नए मोटर व्हीकल एक्ट पर गुजरात मॉडल को कॉपी नहीं करेगी. उन्होंने नए मोटर व्हीकल एक्ट पर जुर्माने के प्रावधान पर कहा कि छत्तीसगढ़ में गुजरात मॉडल लागू नहीं किया जाएगा. सीएम बघेल तंज कसते हुए कहा कि गुजरात मॉडल तो पूरा देश देख रहा है.

सीएम भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने कहा- 'मोटर व्हीकल एक्ट को लेकर परीक्षण करा रहे हैं. छत्तीसगढ़ की जनता को कोई तकलीफ नहीं देना चाहते. इसलिए जुर्माने का प्रावधान ऐसा करेंगे कि जनता को तकलीफ न हो. नए मोटर व्हीकल एक्ट को लेकर विधि जानकारों की मदद ली जाएगी. इसके बाद ही जनता के हित में ही फैसला करेंगे.' बुधवार को जन चौपाल भेंट मुलाकात कार्यक्रम के दौरान सीएम हाउस में मीडिया से चर्चा में भूपेश बघेल ने नए मोटर व्हीकल एक्ट को लेकर चर्चा की.

फिलहाल ये राहत
बता दें कि देश में मोटर व्हीकल एक्ट 2019 लागू ​होने के बाद भी छत्तीसगढ़ में फिलहाल जुर्माने की राशि से सरकार ने राहत दे रखी है. प्रदेश में समझौता राशि में जनता को राहत दी है. इसके तहत प्रदेश में नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू तो किया गया है, लेकिन यदि नियम का उल्लंघन करते पकड़े जाने पर मौके पर ही चालान जमा किया जाता है ​तो जुर्माने की राशि पुराने नियमों की तरह की वसूली जाएगी, लेकिन यदि मामला कोर्ट तक जाता है तो फिर नए प्रावधानों के तहत जुर्माना वसूला जाएगा. इसके तहत कोरबा में 37 हजार रुपये का चालान काटा जा चुका है.

ये भी पढ़ें: मुख्यमंत्री से मिलने पहुंचे फरियादी की CM हाउस में कटी जेब, थाने में शिकायत दर्ज 

नगरीय निकायों में महापौर की आरक्षण सूची जारी, जानिए- कहां से कौन लड़ सकता है चुनाव? 

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज