लाइव टीवी

जल्दबाजी में कांग्रेस! 6 साल में पहली बार CM भूपेश बघेल की गैरमौजूदगी में PCC बैठक की तैयारी

Awadhesh Mishra | News18 Chhattisgarh
Updated: February 12, 2020, 5:55 PM IST
जल्दबाजी में कांग्रेस! 6 साल में पहली बार CM भूपेश बघेल की गैरमौजूदगी में PCC बैठक की तैयारी
6 सालों में पहली बार सीएम भूपेश बघेल के बिना कांग्रेस की अहम बैठक होगी. (File Photo)

रायपुर के राजीव भवन में कांग्रेस की ये अहम बैठक होगी. जानकारों के मुताबिक, सीएम भूपेश बघेल की अनुपस्थिति में पहली बार कार्यकारिणी की बैठक होने वाली है.

  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ कांग्रेस (Congress) के पिछले 6 सालों के इतिहास में गुरूवार को ऐसा पहला मौका होगा जब बिना सीएम भूपेश बघेल की मौजूदी के पीसीसी कार्यकारिणी (PCC Meeting) और मोर्चा-संगठन, प्रकोष्ठ प्रमुखों की बैठक होगी. मालूम हो कि सीएम भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) दस दिनों के अमेरिका के दौरे पर (America Tour) हैं. इस बीच कांग्रेस की ये अहम बैठक रखी गई है. इस बैठक में प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया (PL Punia) मौजूद रहेंगे. कार्यकारिणी के बाद मोर्चा-संगठनों की भी बैठक रखी गई है. जानकारी के मुताबिक, बैठक में शामिल होने पीएल पुनिया गुरुवार सुबह तकरीबन 10 बजे रायपुर पहुंचेंगे. रायपुर (Raipur) के राजीव भवन में कांग्रेस की ये अहम बैठक होगी. जानकारों के मुताबिक, सीएम भूपेश बघेल की अनुपस्थिति में पहली बार कार्यकारिणी की बैठक होने वाली है.

पहले बार होगा ऐसा

कांग्रेस सत्ता और संगठन के बीच क्या सब कुछ ठीन नहीं चल रहा है.. इस सवाल का जवाब हम ढ़ूंढ़ेंगे पर पहले यह जान लीजिए कि छत्तीसगढ़ कांग्रेस के पिछले 6 सालों के इतिहास में गुरूवार को ऐसा पहला मौका होगा जब भूपेश बघेल की अनुपस्थिति में पीसीसी कार्यकारिणी की बैठक होगी. ना केवल पीसीसी कार्यकारिणी बल्कि मोर्चा, संगठन और प्रकोष्ठों के प्रमुखों की भी अहम बैठक होगी. साल 2013 चुनाव में हार की हैट्रिक से हताश कांग्रेस में प्राण फूंकने की जिम्मेदारी भूपेश बघेल को दी गई. भूपेश बघेल ने करीब दो हजार दिनों तक अध्यक्ष रहते हुए तीन बड़े काम किए जिसमें अजीत जोगी पिता-पुत्र को कांग्रेस से बाहर करना, शंकर नगर जैसे पॉश क्षेत्र में भव्य कार्यालय बनवाना और 2018 में पंद्रह सालों बाद कांग्रेस की सत्ता में वापसी कराना.

संचार प्रमुख शैलेष नितिन त्रिवेदी का कहना है कि सीएम भूपेश बघेल का विदेश दौरा पहले से निर्धारित था.


कांग्रेस की दलील

कांग्रेस का सारा काम सत्ता के आडे़ तब छोड़ा हो गया जब कांग्रेस के आस-पास के लोगों की महत्वाकांक्षा सरकार से काफी बढ़ गई. मालूम हो कि बीते दिनों दिल्ली में हुई बैठक को भी इसी महत्वाकांक्षा से जोड़कर देखा जा रहा है. कांग्रेस के जानकारों की मानें तो मोहन मरकाम के पीसीसी चीफ बनने के बाद सत्ता और संगठन में दूरी आमतौर पर देखने को मिल रहा है. शायद यहीं वजह है कि गुरूवार को होने वाली बैठक का ऐजेंडा क्या होगा, किन विषयों पर चर्चा होगी इस बात का जवाब संचार प्रमुख शैलेष नितिन त्रिवेदी के पास भी नहीं है. हालांकि उन्होंने ये जरूर कहा कि प्रदेश प्रभारी कांग्रेस भवन में पत्रवार्ता को संबोधित करेंगे. सीएम भूपेश बघेल का विदेश दौरा पहले से निर्धारित था. पीसीसी बैठक में पार्टी के मुताबिक ही हो रही है.
 

ये भी पढ़ें: 

 

बोर्ड एग्जाम में बेहतर रिजल्ट की कवायद, मुंगेली कलेक्टर बच्चों के लिए चला रहे ये अभियान 





 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2020, 5:48 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर