लाइव टीवी

निकाय चुनाव जीतने ये है कांग्रेस का 'प्लान B', बगावत का फायदा लेने की कोशिश!

Awadhesh Mishra | News18 Chhattisgarh
Updated: December 7, 2019, 6:25 PM IST
निकाय चुनाव जीतने ये है कांग्रेस का 'प्लान B', बगावत का फायदा लेने की कोशिश!
बड़े नेताओं के खिलाफ प्रत्याशियों ने जमकर नारेबाजी की. (सांकेतिक तस्वीर)

राजनीतिक विश्लेषक राम अवतार तिवारी की मानें तो कांग्रेस के प्रत्याशी चयन में देरी नामांकन समाप्ति से महज आधा घंटे पहले प्रत्याशियों को बदल देना एक खास रणनीति के तहत हुआ है.

  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ में धान खरीदी पर सियासत के बाद अब नगरीय निकाय चुनाव को लेकर घमासान मचा हुआ है. सूबे में प्रमुख दल बीजेपी और कांग्रेस, दोनों में प्रत्याशी चयन को लेकर खींचतान हो रही है. पार्टी में हो रहे बगावत को लेकर अब सियासत हो रही है. जानकार से मिली जानकारी के मुताबिक नगरीय निकाय चुनाव में जीत सुनिश्चित करने के लिए कांग्रेस ने एक खास प्लान बनाया है. माना जा रहा है कि प्रत्याशी चयन के बाद हो रहे बवाल का कांग्रेस फायदा उठाने की कोशिश में लगी हुई है. खास रणनीति के तहत पार्टी ने टिकट देने के बाद दावेदारों का टिकट काट दिया, ताकी वोटों के बंटवारे का फायदा पार्टी को सीधे तौर पर मिले. निकाय में जीत के लिए कांग्रेस ने अब एक प्लान बी बनाया है.

कांग्रेस का प्लान बी?

राजनीतिक विश्लेषक राम अवतार तिवारी की मानें तो कांग्रेस के प्रत्याशी चयन में देरी नामांकन समाप्ति से महज आधा घंटे पहले प्रत्याशियों को बदल देना, नामांकन समाप्ति के बाद भी प्रदेशाध्यक्ष मोहन मकराम के ही क्षेत्र के उम्मीदवारों के नामों की अधिकारिक घोषणा ना हो पाना, एक बार में ऐसा लगता है कि कांग्रेस प्रत्याशी चयन के भवंर में बुरी तरह फंसी हुई थी. मगर ये कांग्रेस का प्लान बी भी हो सकता है. पार्टी के रणनीति के मुताबिक क्षेत्र के प्रभावशील, जाति विशेष, वर्ग विशेष व्यक्तियों को दावेदार बनाना और फिर टिकट ना देकर बागी चुनाव लड़वाना, जिससे वोटों का ध्रुवीकरण हो और कांग्रेस प्रत्याशी आसानी से चुनाव जीत जाए. दरअसर प्रदेश में महापौर-अध्यक्ष पद के लिए अप्रत्यक्ष प्रणाली से चुनाव के ऐलान से बाद से ही कांग्रेस इस गुणा-गणित में जुट गई थी कि वोटों का ध्रुवीकरण कर कैसे जीत दर्ज की जा सके.

लिस्ट में देरी

प्रदेश में कांग्रेस की कमान सम्भालने वाले पीसीसी अध्यक्ष मोहन मरकाम अपने ही क्षेत्र में प्रत्याशियों की लिस्ट जारी करने में नाकाम रहे. मोहन मरकाम के विधायकी वाले क्षेत्र कोंडागांव में निकाय चुनाव के लिए प्रत्याशियों के नाम की लिस्ट नामांकन के आखरी दिन तक जारी नहीं हुई. कोंडागांव नगर पालिका के लोग प्रत्याशियों की लिस्ट का इंतज़ार करते रह गये लेकिन कांग्रेस में हुई लेट-लतीफी में पीसीसी अध्यक्ष का ही क्षेत्र छूट गया. हांलाकि प्रत्याशियों ने मौखिक सूचना के आधार पर अपना नामांकन दाखिल किया है. लेकिन आखरी समय तक नामों को लेकर संशय की स्थिति बरकरार रही.

ये भी पढ़ें: 

उन्नाव गैंगरेप कांड पर CM भूपेश बघेल ने कहा, जल्द मिले पीड़ित परिवार को न्याय मुंबई की डांसर का गैंगरेप, इवेंट मैनेजर ने दोस्तों के साथ मिलकर की वारदात, पैसे भी लूटे  

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 7, 2019, 6:25 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर