लाइव टीवी

कांग्रेस के मंत्री की 'नौटंकी', जनता से मिलने पर जश्न, खुद की बैठक का जारी किया बुकलेट
Raipur News in Hindi

Awadhesh Mishra | News18 Chhattisgarh
Updated: February 12, 2020, 2:02 PM IST
कांग्रेस के मंत्री की 'नौटंकी', जनता से मिलने पर जश्न, खुद की बैठक का जारी किया बुकलेट
बुकलेट जारी करने के मामले में बीजेपी ने सत्तापक्ष पर जमकर निशाना साधा है. (प्रतीकात्मक फोटो)

राजनीतिक विश्लेषक रामअवतार तिवारी कहते है कि आप चाहे पच्चिस बार बैठे या पचास बार या फिर सौ बार, ऐसा कोई आयोजन या जश्न होना ही नहीं था.

  • Share this:
रायपुर. डॉ. विजय शंकर की एक कविता आपको याद दिला दे जिसमें उन्होंने लिखा था कि " कठिन है, बहुत ही कठिन है, हाथ पीछे कर अपनी ही पीठ थपथपाना, लेकिन कुछ लोग थपथपा लेते हैं. बार-बार थपथपाते हैं, लगातार थपथपाते हैं, खुद, खुश भी हो लेते हैं. कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के मंत्री मो. अकबर (Minister Md. Akhbar) के साथ जो जनता से मिलने को ही सेलिब्रेट करते नजर आए. दरअसल, छत्तीसगढ़ में सत्ताधारी दल कांग्रेस ने अपने मंत्रियों को सख्त हिदायत दी थी कि वे सप्ताह में एक दिन कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में बैठें और आमजनों से मिलकर उनकी समस्याओं का समाधान करें. इस आदेश के परिपालन में आवास-पर्यावरण और परिवहन मंत्री मो. अकबर बीते सोमवार को कुल 25वीं बार कांग्रेस मुख्लाय राजीव भवन पहुंचे और लोगों से मिले. मगर 25वें बार जनता से मिलने पहुंचने का नजारा कुछ और ही था.


राजीव भवन में जमकर आतिशबाजी, ढ़ोल-ढ़माका, शोर-शराबा, फूल-माला, मंच, माला, माइक और जश्न. ऐसा लग रहा था जैसे प्रदेश की सारी समस्याएं को खत्म कर मंत्री मो. अकबर सीधे राजीव भवन पहुंचे हो. जश्न और उत्साह का सिलसिला यहीं नहीं रुका. मंत्री सभाकक्ष पहुंचे वहां जोशिला भाषण देते हुए सावर्जनिक रूप से अपनी ही पीठ थपथपाई की वे 25 बार पहुंच गए. साथ ही जो मंत्री लगातार नहीं आ रहे हैं उन पर हंसते हुए कटाक्ष भी किया. साथ ही अपने 25वें राउंड को सिल्वर जुबली राउंड (Silver Jubilee Round) के रूप में बुकलेट (Booklet) भी जारी किया, जो प्रत्यक्ष राजनीति में कई सवालों को जन्म दे रहा है कि क्या जनसेवा के लिए विधायक और मंत्री बने जनता के सेवक जनता से मिलने का ही जश्न मनाएंगे.




जो नहीं आए क्या उनका मुंह काला किया जाएगा-विरेंद्र पाण्डेय

बीजेपी (BJP) के पूर्व विधायक, वित्त आयोग के पूर्व अध्यक्ष और वरिष्ठ राजनेता विरेंद्र पाण्डेय ने मंत्री मो. अकबर के इस कारनामें पर अफशोस जाहिर करते हुए इसकी कड़ी निंदा की. विरेंद्र पाण्डेय ने साफ शब्दों में कहा कि जो पच्चिसव बार आए वे तो सिलवर जुबली राउंड मना रहे हैं. मगर जिन मंत्रियों ने दहाई का भी आकड़ा पार नहीं किया, क्या उनका मुंह काला किया जाएगा? विरेंद्र पाण्डेय ने यह भी कहा कि आजकल राजनीति में नौटंकी का दौर चल रहा है, जो प्रदेश के पर्यावरण मंत्री हैं वे ही आतिशबाजी कर पर्यावरण को दूषित कर रहे है. जनता ने विधायक और नेताओं को सेवा के लिए चुना है. अगर आप अपने कर्तव्य के निर्वहन को ही सेलिब्रेट करेंगे तो फिर इससे निंदनीय और क्या होगा.




अपने 25वें राउंड को सिल्वर जुबली राउंड के रूप मंत्री ने बुकलेट जारी कर दिया है.





नई-नई दौलत ज्यादा ही खनती है- बीजेपी 


मंत्री मो. अबकर के सिल्वर जुबली राउंड पर कटाक्ष करते हुए बीजेपी प्रवक्ता गौरीशंकर श्रीवास ने कहा कि 25-30 बैठ रहे हैं. जनता की समस्याएं सुन रहे हैं. आप केवल बैठ ही रहे हैं, समस्याएं सुन ही रहे हैं. कुछ कर नहीं रहे. अपनी ही पीठ थपथपा रहे हैं. साथ ही यह भी कहा कि बड़ा हास्यास्पद स्थिति है कि मंत्री ऐसा आयोजन कर रहे हैं और उनके कार्यकर्ता पटाखे फोड़ रहे हैं. भगवान ऐसे लोगों को सदबुद्धि दें जो ऐसा कृत्य कर रहे हैं, नई-नई दौलत है ज्यादा ही खन रही है.


जो मंत्री कम आ रहे हैं वे भी अपना क्रम जल्द बढ़ाएंगे- कांग्रेस


एक मंत्री के सिल्वर जुबली राउंड मनाने पर अन्य मंत्री के दहाई के आकड़े पर भी नहीं पहुंचने के सवाल पर पीसीसी संचार प्रमुख शैलेष नितिन त्रिवेदी ने सफाई देते हुए कहा कि मंत्रियों से इस बारे में बातचीत की गई है. उन्होंने कहा है कि व्यस्तता के कारण आना कुछ कम हो रहा है. मगर आने वाले दिनों में हम लगातार आएंगे.




मंत्री का बुकलेट.





ऐसा कोई आयोजन या जश्न होना ही नहीं था- रामअ‌तार तिवारी


एक मंत्री के सिल्वर जुबली राउंड मनाने के सवाल पर सूबे के वरिष्ठ पत्रकार और राजनीतिक विश्लेषक रामअवतार तिवारी कहते है कि आप चाहे पच्चिस बार बैठे या पचास बार या फिर सौ बार, ऐसा कोई आयोजन या जश्न होना ही नहीं था. इससे कांग्रेस के भीतर ही सवाल उठ रहा है कि जब आप अपना ही कर्तव्य नीभा रहे हैं तो ऐसे आडंबर की जरूरत क्यों पड़ी.









ये भी पढ़ें:

 






News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2020, 2:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर