कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी का BJP पर बड़ा हमला, कहा- कर्नाटक में डराकर बनाई गई सरकार

अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि हिन्दुस्तान के लोकतंत्र में ये सही नहीं है. आने वाले समय में खरीदो और बेचो विधायक अपने सामने तख्ती लगाकर घूमेंगे.

Surendra Singh | News18 Chhattisgarh
Updated: July 27, 2019, 5:58 PM IST
Surendra Singh | News18 Chhattisgarh
Updated: July 27, 2019, 5:58 PM IST
संसद की लोक लेखा समिति के चेयरमैन शनिवार को राजधानी रायपुर के दौरे पर रहे. इस दौरान उन्होने कर्नाटक की बीजेपी सरकार को अनैतिक सरकार बताया है. कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि कर्नाटक में डराकर और लुभाकर सरकार बनाया गया है. इस सरकार की जान कब तक रहेगी इसका पता नही है. कर्नाटक के मुख्यमंत्री यदुरप्पा बने हैं, लेकिन दिल्ली से कोई नेता नहीं जाते हैं, इससे क्या साबित हो रहा है, मुख्यमंत्री का खुद पर यकीन नहीं रहा है. उन्होने कहा कि सब कुछ यदुरप्पा पर बीजेपी ने छोड़ दिया है  कि वो मरे या बचे ये रणनीति अपनाई जा रही है. हिन्दुस्तान के लोकतंत्र में ये सही नहीं है. आने वाले समय में खरीदो और बेचो विधायक अपने सामने तख्ती लगाकर ढूमेगे....

 

लोकसभा बिल पर कही ये बात

कांग्रेस के सांसद और लोक-लेखा समिति के चेयरमैन अधीर रंजन चौधारी ने लोकसभा में पास हो रहे विधेयकों को लेकर कहा है कि वहां पर धड़ल्ले से एक के बाद एख बिल पास होते जा रहे है. बिलों में सही ढंग से छानबीन नहीं हो पा रही है.  इसके लिए हमने केन्द्र सरकार को चेतावनी दी है कि इस तरह से काम नहीं किया जाए. स्टैंडिंग कमेटी की प्रतिष्ठा को बनाए रखने को लेकर हमने सदन में कहा है.

 

आज़म खान मामले पर दिया ये बयान

संसद का बजट सत्र जारी है और लोकसभा में सपा सांसद आजम खान द्वारा गुरुवार को दिए गए विवादित बयान पर हंगामा थमने का नाम नहीं ले रहा है. अब लोक-लेखा समिति के चेयरमैन अधीर रंजन चौधरी ने अपना बयान देते हुए कहा कि हम सभी लोगों ने अपना पक्ष रख दिया है. इस पूरे मामले में आगे क्या कार्यवाही होती है वो सब कुछ स्पीकर पर छोड़ दिया है.
Loading...

 

कश्मीर मुद्दे पर कही ये बात

कश्मीर मुद्दे पर अधीर रंजन चौधरी ने कहा है कि कश्मीर में एक सौ से ज्यादा की सीआरपीएफ बटालियन को फिर से भेजा गया है. लेकिन आम लोगों की सुरक्षा के लिए अगर फोर्स भेजी जाती है तो हमारा कोई विरोध नहीं है. लेकिन वहां के स्थानीय लोगों को किसी प्रकार का फोर्स से डर नहीं होना चाहिए. वहां पर लॉ एंड ऑर्डर के लिए फोर्स तैनात हो तो आपत्ति नहीं है, लेकिन स्थानीय लोगों को कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए.

ये भी पढ़ें: 

नक्सलगढ़ में अब नशे की तस्करी, पुलिस ने ऐसे पकड़ा 1 करोड़ का गांजा 

तबियत खराब होने पर छुट्टी मांगने गया था बच्चा, टीचर ने बेरहमी से पीटा

 
First published: July 27, 2019, 5:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...