Covid-19 Update: छत्तीसगढ़ में 7302 लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि, संक्रमितों की संख्या 3.76 लाख तक पहुंची

राज्य में 44,296 मरीज उपचाराधीन हैं. राज्य में संक्रमण से 4363 लोगों की मौत हुई है. (सांकेतिक फोटो)

राज्य में 44,296 मरीज उपचाराधीन हैं. राज्य में संक्रमण से 4363 लोगों की मौत हुई है. (सांकेतिक फोटो)

Covid-19 Update: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में अब तक 3,76,348 लोगों के कोरोना से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. 3,27,689 मरीज इलाज के बाद संक्रमण मुक्त हुए हैं.

  • Share this:

रायपुर. छत्तीसगढ़ में पिछले 24 घंटों के दौरान 7302 लोगों में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण की पुष्टि हुई है. राज्य में संक्रमित हुए लोगों की संख्या 3,76,348 हो गई है. राज्य स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि संक्रमण के 7302 मामले आए हैं. इनमें रायपुर जिले से 1702, दुर्ग से 1169, राजनांदगांव से 893, बालोद से 169, बेमेतरा से 335, कबीरधाम से 104, धमतरी से 154, बलौदाबाजार से 162, महासमुंद से 338, गरियाबंद से 150, बिलासपुर से 467, रायगढ़ से 157, कोरबा से 285, जांजगीर चांपा से 161, मुंगेली से 51, गौरेला पेंड्रा मरवाही से 52, सरगुजा से 190, कोरिया से 77, सूरजपुर से 164, बलरामपुर से 20, जशपुर से 171, बस्तर से 103, कोंडागांव से 23, दंतेवाड़ा से 27, सुकमा से सात, कांकेर से 165, नारायणपुर से तीन, बीजापुर से दो तथा अन्य से एक मामला सामने आया है.

अधिकारियों ने बताया कि छत्तीसगढ़ में अब तक 3,76,348 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. 3,27,689 मरीज इलाज के बाद संक्रमण मुक्त हुए हैं. राज्य में 44,296 मरीज उपचाराधीन हैं. राज्य में संक्रमण से 4363 लोगों की मौत हुई है.

Youtube Video

दुर्ग जिले में कोरोना वायरस संक्रमण अनकंट्रोल होते जा रहा है. आलम यह है कि श्मशान घाट में शवों के अंतिम संस्कार के लिए भी जगह कम पड़ रही है. बेकाबू होते कोरोना पर काबू पाने के लिए प्रशासन हर संभव कोशिश का दावा कर रहा है, लेकिन स्थिति फिलहाल नियंत्रण से बाहर ही नजर आ रही है. बीते शुक्रवार की सुबह दुर्ग जिला अस्पताल के शव गृह से भयावह तस्वीर सामने आई थी. यहां कुल 22 शव कोरोना के संदिग्ध मरीजों के 12 बाई 18 के कमरे में रखे गए थे. इसमें 8 शव फ्रिजर और शेष 14 शव खुले में बेतरतीब ढंग से पड़े हुए थे.
बताया जा रहा था कि ये सारी मौतें बीते गुरुवार की शाम 4 बजे से शुक्रवार की सुबह 7 बजे के बीच हुईं. मिली जानकारी के मुताबिक जिला अस्पताल में इस समय हालत ऐसी है कि शव रखने की जगह नहीं है. आनन-फानन में शवों को अब प्रशासन ने इधर-उधर जलाना शुरू कर दिया है. दुर्ग कलेक्टर सर्वेश्वर भुरे का कहना है कि प्रशासन स्थिति पर काबू पाने की कोशिश कर रहा है. लोगों को ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है. थोड़ी सी लापरवाही भारी पड़ सकती है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज