छत्‍तीसगढ़ में कोरोना वैक्‍सीनेशन की तेयारी शुरू, कलेक्‍टर होंगे नोडल अधिकारी

कोरोना वायरस टीका को लेकर छत्‍तीसगढ़ सरकार ने तैयारी शुरू कर दी है. (फाइल फोटो)
कोरोना वायरस टीका को लेकर छत्‍तीसगढ़ सरकार ने तैयारी शुरू कर दी है. (फाइल फोटो)

Coronavirus Vaccine Update: छत्‍तीसगढ़ सरकार ने प्रदेश में कोरोना वैक्‍सीनेशन की तैयारी शुरू कर दी है. इसके तहत सबसे पहले स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के कर्मचारियों को टीका देने की तैयारी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2020, 9:58 AM IST
  • Share this:
रायपुर. देश और दुनिया कोरोना वायरस के संक्रमण से जूझ रही है. इसके साथ ही इस प्राणघातक संक्रमण की रोकथाम के लिए वैक्‍सीन तैयार करने का काम भी जोरों पर है. केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री हर्षवर्धन ने जनवरी में कोरोना का टीका आने की बात कही है. इसके साथ ही छत्‍तीसगढ़ में कोरोना वैक्‍सीनेशन की तैयारी भी शुरू कर दी गई है. इसके लिए सीनियर प्रोजेक्‍ट ऑफिसर की नियुक्ति भी कर दी गई है. इस अभियान के लिए जिलों के कलेक्‍टर्स को नोडल अधिकारी बनाया गया है. सबसे पहले स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के अधिकारियों-कर्मयचारियों को टीका दिया जाएगा. इसकी बाकायदा लिस्‍ट बनाई जा रही है. साथ ही स्‍वास्‍थ्‍य विभाग से जुड़े अन्‍य डिपार्टमेंट के कर्मचयारियों की भी सूची तैयार की जा रही है. इसे 25 अक्‍टूबर तक अपडेट करने को कहा गया है.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के कर्मचारियों की सूची को 30 अक्टूबर को कोविड-19 वैक्सीनेशन बेनीफिशियरी मैनेजमेंट सिस्टम (सीवीबीएमएस) में अपलोड किया जाएगा. इसके लिए अलग से यूजर आईडी व पासवर्ड जारी किए जाएंगे.  इसके अलावा निजी अस्‍पतालों और स्‍वास्‍थ्‍य क्षेत्र में काम करने वाले अन्‍य गैर सरकारी संगठनों के कर्मचारियों की लिस्‍ट भी तैयार की जा रही है, ताकि उन्‍हें भी इसका फायदा मिल सके. बता दें कि शुरुआत में छत्‍तीसगढ़ में कोरोना वायरस संक्रमण की रफ्तार बेहद कम थी, लेकिन बाद के दिनों में यहां भी बड़ी तादाद में लोग कोरोना से संक्रमित होने लगे.

रायपुर में कोरोना के तकरीबन 40 हजार मामले
रायपुर में कोरोना मरीजों की संख्या 40 हजार के करीब पहुंच गई है. 240 नए संक्रमित मिलने के बाद छत्‍तीसगढ़ की राजधानी में मरीजों की संख्या 39914 हो गई है. प्रदेश में कुल 2491 नए मरीज मिले हैं. इसके साथ ही 52 मरीजों की कोरोना संक्रमण के चलते मोत भी हुई है. बता दें कि इस प्राणघातक संक्रमण से छत्‍तीसगढ़ में 1681 लोगों की मौत हो चुकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज