Chhattisgarh COVID-19 Update: 24 घंटे में 2840 नए कोरोना केस, 67 लोगों की मौत

कोरोना संक्रमण की वजह से 67 लोगों की मौत. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)

कोरोना संक्रमण की वजह से 67 लोगों की मौत. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Pixabay)

Chhattisgarh News: पिछले 24 घंटे में छत्तीसगढ़ में 2840 नए कोरोना (COVID-19) मरीज मिले हैं. संक्रमण की वजह से 67 लोगों की मौत हो गई है.

  • Share this:

रायपुर. छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण (COVID-19) की रफ्तार अब धीमी होती नजर आ रही है. स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी ताज आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में  2840 नए मरीज मिले है. शुक्रवार को संक्रमण की वजह से 67 लोगों की मौत हो गई है. सबसे ज्यादा 11 मौत दुर्ग जिले में हुई है. सरगुजा जिले में सर्वाधिक 260 नए मरीज मिले है. राजधानी रायपुर में रायपुर में 140 नए मरीज मिले है. 24 घंटे में 4961 लोगों ने कोरोना को मात दे दी है. एक्टिव मरीजों की संख्या घटकर 46932 हो गई है. कुल पीड़ितों की संख्या 965208 पर पहुंच गई है. कोरोना संक्रमण से अब तक 12915 लोगों की मौत हुई है. अब तक 905361 मरीज रिकवर हुए हैं.

सरगुजा में सबसे ज्यादा 260 नए मरीज मिले है. तो वहीं जशपुर में 170, रायगढ़ में 168, मुंगेली में 157, जांजगीर में 155, कोरिया में 152, बलरामपुर में 151, कोरबा में 143 और रायपुर में 140 नए कोरोना मरीज मिले हैं.

सरकार का बड़ा फैसला

कोविड पॉजिटिविटि रेट  कम होते ही धीरे-धीरे छत्तीसगढ़ अनलॉक होता जा रहा है. राजधानी रायपुर में पूरा मार्केट खोल दिया गया है. लेकिन इस रियायत के बाद फिर से कोरोना विस्फोट की स्थिति न बने इसलिए शहर के बाजारों में अब कोरोना टेस्ट किया जा रहा है. मालवीय रोड में जवाहर बाजार, गोल बाजार, रवि भवन में स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम की टीम मिलकर व्यापारियों और उनकी दुकानों में काम करने वाले कर्मचारियों का एंटीजन टेस्ट कर रहे हैं. आपको बता दें कि रविवार का दिन छोड़कर राजधानी में सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक कारोबार की छूट दी गयी है जिसे देखते हुए बाजारों में लोगों की भीड़ बढ़ रही है. इसलिए शिविर लगाकर कोरोना टेस्ट किया जा रहा है.
सरकार ने बनाया खास प्लान


मार्केट में व्यापारियों और वहां काम कर रहे कर्मचारियों के अलावा शिविर में इन दुकानों में खरीदारी करने पहुंचे ग्राहकों का भी कोविड टेस्ट लिया जा रहा है. मार्केट में लोग अभी भी मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर जागरूक नहीं है. लिहाज़ा फिर से एक बार कोरोना विस्फोट हो सकता है. इसलिए ये व्यवस्था की गयी है. इसके लिए बकायदा व्यापारिक संगठनों से चर्चा की गयी है और चर्चा के बाद मुख्य जगहों पर एंटीजन टेस्ट का शिविर लगाया गया है जिसकी रिपोर्ट आमतौर पर 10 मिनट के भीतर ही दी जा रही है. साथ ही टेस्ट कराने वालों से उनके नाम और ए़ड्रेस के साथ व्यापारिक संस्थान के बारे में भी जानकारी ली जा रही है ताकि रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग हो सके और उनके संपर्क में आने वाले लोगों की भी जांच की जा सके.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज