लाइव टीवी

देवती कर्मा: नक्सलियों ने की पति की हत्या तो खुद राजनीति में आईं, दूसरी बार बनीं MLA

News18 Chhattisgarh
Updated: September 27, 2019, 5:14 PM IST
देवती कर्मा: नक्सलियों ने की पति की हत्या तो खुद राजनीति में आईं, दूसरी बार बनीं MLA
दंतेवाड़ा उपचुनाव में देवती कर्मा 11 हजार से ज्यादा वोटों से जीती हैं.

आदिवासी बाहुल्य दंतेवाड़ा (Dantewada) से दूसरी बार विधायक (MLA) चुनी गई देवती कर्मा कभी भी सक्रिय राजनीति में नहीं आना चाहती थीं.

  • Share this:
दंतेवाड़ा. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के आदिवासी बाहुल्य दंतेवाड़ा (Dantewada) विधानसभा सीट के लिए हुए उपचुनाव (By-Election) के परिणाम आ चुके हैं. दंतेवाड़ा की जनता ने कांग्रेस (Congress) प्रत्याशी देवती कर्मा पर अपना भरोसा जताया है. सरल प्रवृत्ति की आदिवासी महिला देवती कर्मा (Devati Karma) पर दूसरी बार दंतेवाड़ा की जनता ने भरोसा जताया है. शुक्रवार को आए उपचुनाव (Bypoll) के परिणाम में देवती कर्मा को 11192 वोटों से बड़ी जीत मिली. देवती कर्मा ने अपनी निकटतम प्रतिद्वंदी बीजेपी की ओजस्वी मंडावी को हराया है. जानते हैं देवती कर्मा के राजनीतिक सफर के बारे में.

आदिवासी बाहुल्य दंतेवाड़ा (Dantewada) से दूसरी बार विधायक (MLA) चुनी गई देवती कर्मा कभी भी सक्रिय राजनीति में नहीं आना चाहती थीं. हालांकि बस्तर टाइगर के नाम से पहचाने जाने वाले पति महेन्द्र कर्मा के साथ सभा व पार्टी के कार्यक्रमों में वे नजर जरूर आ जाती थीं. लेकिन साल 2013 में उनको एक दर्दनाक वारदात का सामना करना पड़ा और यही वारदात उनकी सक्रिय राजनीति की शुरुआत भी रही.

नक्सलियों ने की पति की हत्या
विधानसभा चुनाव से पहले मई 2013 में कांग्रेस परिवर्तन यात्रा निकाल रही थी. इसी दौरान 25 मई को बस्तर के दरभा झीरमघाटी में नक्सलियों ने कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा के काफिले पर हमला कर दिया. इस हमले में नक्सलियों ने देवती कर्मा के पति बस्तर टाइगर महेन्द्र कर्मा, तत्कालीन पीसीसी अध्यक्ष नंदकुमार पटेल समेत 29 लोगों की निर्मम हत्या कर दी थी. इसके बाद नवंबर में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने महेन्द्र कर्मा की पत्नी देवती कर्मा को प्रत्याशी बनाया. देवती कर्मा को इस चुनाव में जनता का साथ मिला.

Devati Karma
आदिवासी महिला देवती कर्मा पर दूसरी बार दंतेवाड़ा की जनता ने भरोसा जताया है.


2018 में मिली हार
गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018 में दंतेवाड़ा सीट पर देवती कर्मा को बीजेपी प्रत्याशी भीमा मंडावी से हार का सामना करना पड़ा था. बस्तर संभाग की ये इकलौती ऐसी सीट थी, जहां कांग्रेस को हार का समाना करना पड़ा था. हालांकि कांग्रेस प्रत्याशी देवती कर्मा और बीजेपी के भीमा मंडावी के बीच वोटों का अंतर 25सौ से भी कम था. इसके बाद लोकसभा चुनाव 2019 में प्रचार से लौट रहे विधायक भीमा मंडावी की 9 अप्रैल को नक्सलियों ने हत्या कर दी. इसके बाद से ये सीट खाली थी. इस पर उपचुनाव में बीजेपी ने भीमा मंडावी की पत्नी ओजस्वी मंडावी और कांग्रेस ने देवती कर्मा को प्रत्याशी बनाया और जनता ने उनपर भरोसा जताया.ये भी पढ़ें: Dantewada Bypoll Result: भूपेश सरकार को दंतेवाड़ा ने सराहा 

भी पढ़ें: Honey Trap : खूबसूरती की जाल में फंसा कर रायपुर के व्यापारी से वसूले 1 करोड़ 38 लाख रुपये 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दंतेवाड़ा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 27, 2019, 5:14 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर