CM भूपेश बघेल की मां की मौत को अमित जोगी ने शराब बंदी से जोड़ा, जवाब मिला- धिक्कार है!

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने सीएम बघेल की मातृ शोक को शराब की बिक्री से जोड़ दिया और इसको लेकर एक ट्वीट कर दिया.

News18 Chhattisgarh
Updated: July 8, 2019, 12:35 PM IST
CM भूपेश बघेल की मां की मौत को अमित जोगी ने शराब बंदी से जोड़ा, जवाब मिला- धिक्कार है!
जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने सीएम बघेल की मातृ शोक को शराब की बिक्री से जोड़ दिया और इसको लेकर एक ट्वीट कर दिया है. फाइल फोटो.
News18 Chhattisgarh
Updated: July 8, 2019, 12:35 PM IST
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को मातृ शोक के मौके पर पूर्व सीएम अजीत जोगी के बेटे अमित जोगी के एक ट्वीट ने राजनीतिक हलचल तेज कर दी है. जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने सीएम बघेल के मातृ शोक को शराब की बिक्री से जोड़ दिया. इस ट्वीट की सोशल मीडिया पर अलग अलग प्रतिक्रियाएं भी मिल रही हैं.

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मां बिंद्वेश्वरी बघेल का बीते रविवार की शाम को इलाज के दौरान निधन हो गया था. इसके बाद सभी राजनीतिक दलों के साथ ही प्रदेश के हर वर्ग से सीएम बघेल बघेल की मां को श्रद्धांजलि ​अर्पित की जा रही है. इस बीच रविवार की ही देर शाम अमित जोगी ने एक ट्वीट किया.

ट्वीट में लिखा
ट्वीट में अमित जोगी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की माता की मौत के मौके को शराब से जोड़ने की कोशिश की है. अमित जोगी ने लिखा, 'मुख्यमंत्री अपनी मां को मुखाग्नि देते हुए तय कर लें कि या तो वह बाराद्वार की शराब दुकान बंद कर लें या मुझे.' अमित जोगी ने अपने एक और ट्वीट में जानकारी दी है कि वह सोमवार को आंदोलन (शराब बंदी) को समर्थन देने बाराद्वार जा रहे हैं.

'धिक्कार है'
अमित जोगी ने शराबबंदी की मांग को लेकर अपने इस इस ट्वीट का जो समय चुना है, उसकी जमकर आलोचना हो रही है, लोग इसे शर्मनाक भी बता रहे हैं. सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर व्योमेश शुक्ला लिखते हैं- संवेदना से वंचित राजनीति का विचित्र नमूना. छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के राजनेता पुत्र अमित जोगी का यह सिरफिरा ट्वीट देखें. अभी-अभी वहां से वर्तमान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मां के निधन की ख़बर आ रही है. इस ट्वीट में इस बात का भी ज़िक्र है, लेकिन कितना हिंसक. क्या मृत्यु के शोक में चुप-भर रह जाने की शिष्टता भी अब ज़रूरी नहीं रही? तुम धन्य हो. तुम्हें धिक्कार है.

Loading...

भिलाई नगर के विधायक देवेन्द्र यादव ने लिखा- कुछ लोग निहायत बेशर्म होते हैं, उनके संस्कार के बीज ही इस तरह पड़े हैं. राजनीति 365 दिन हो सकती है, लेकिन अटल नकलची लोग बेशर्मी की पराकाष्ठा लांघ रहे हैं. सनद रहे सुधर जाईये, कांग्रेस कार्यकर्ता गांधीवादी हैं. इसका आशय यह नहीं कि आप शिशुपाल हो जाएं.

ये भी पढ़ें:

कांकेर में तेज रफ्तार बस ने राह चलते पुलिस जवान को रौंदा, मौत

बैगा आदिवासियों की पिटाई के मामले ने पकड़ा तूल, वन विभाग पर कार्रवाई की मांग 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 8, 2019, 12:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...