TB पर करोड़ों रुपए खर्च करने के बावजूद मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा

केंद्र सरकार ने वर्ष 2025 तक टीबी जैसी जानलेवा बीमारी को जड़ से खत्म करने का लक्ष्य रखा है, लेकिन रायगढ़ जिले में ये लक्ष्य पूरा होता नजर नहीं आ रहा. जिले में टीबी के मरीज कम होने के बजाए और बढ़ गए हैं. नए-नए मरीज डायग्नोसिस हो रहे हैं.

Yugal Tiwari | News18 Chhattisgarh
Updated: December 8, 2018, 4:35 PM IST
TB पर करोड़ों रुपए खर्च करने के बावजूद मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा
TB पर करोड़ों रुपए खर्च करने के बावजूद मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा
Yugal Tiwari | News18 Chhattisgarh
Updated: December 8, 2018, 4:35 PM IST
छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले में स्वास्थ्य विभाग ने ट्यूबरकुलोसिस (टीबी) पर नियंत्रण करने के लिए एक साल में 1 करोड़ 10 रुपए खर्च कर दिए. पूरक पोषण आहार बांटने से लेकर टीबी की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य शिविर तक का आयोजन किया गया, फिर भी इस साल जिले में टीबी के 1784 नए मरीज पाए गए हैं. इतना ही नहीं अब तक 30 लोगों की मौत भी हो चुकी है. ऐसे में योजना पर किए जा रहे खर्च और योजना के सफल क्रियान्वयन पर सवाल उठने लगे हैं.

केंद्र सरकार ने वर्ष 2025 तक टीबी जैसी जानलेवा बीमारी को जड़ से खत्म करने का लक्ष्य रखा है, लेकिन रायगढ़ जिले में ये लक्ष्य पूरा होता नजर नहीं आ रहा. जिले में टीबी के मरीज कम होने के बजाए और बढ़ गए हैं. नए-नए मरीज डायग्नोसिस हो रहे हैं.

आपको बता दें कि साल 2015 में 9505 मरीज, वर्ष 2016 में 9043 मरीज, 2017 में 8523 और साल 2018 में 10,307 मरीज टीबी से पीड़ित पाए गए हैं. इस तरह इस साल टीबी के 1784 नए मरीज पाए गए हैं. अब टीबी पर होने वाले खर्च पर नजर डालें तो टीबी के मरीजों को बांटे जाने वाले पोषण आहार पर करीब 52 लाख रुपए, टीबी वार्ड में सिविल वर्क पर 4 लाख रुपए, दवाओं के वितरण पर 1 लाख रुपए, मरीजों की मदद और परिवहन पर 11 लाख रुपए, हेल्थ विजिटर्स पर 8 लाख रुपए, अवेयरनेस कार्यक्रमों पर 5 लाख रुपए, सुपरविजन और मॉनिटरिंग पर 3 लाख रुपए खर्च किया जा चुका है.

वहीं 13 लाख रुपए वाहनों की व्यवस्था और किराए पर खर्च किए जा चुके हैं. इसके अलावा मिसलेनियस एक्सपेंसेस के नाम पर करीब 4 लाख रुपए खर्च किए गए हैं. इतनी बड़ी राशि खर्च होने के बाद भी आंकड़े कम होते नजर नहीं आ रहे हैं.

वहीं रायगढ़ सीएमएचओ डी. के. टोंडर ने जागरूकता अभियान चलाकर मरीजों को जल्द से जल्द जांच कर इलाज कराने की बात कही.

ये भी पढ़ें:- ‘रोज दुकान जाकर नई शेरवानी का ऑर्डर दे रहे हैं कांग्रेस के शैडो CM’

ये भी पढ़ें:- संदिग्ध हालत मिले युवक-युवती, पूछताछ करने वाले को मारा चाकू
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर