छत्तीसगढ़ में कुत्तों का आतंक, 3 लाख से अधिक लोगों को बनाया शिकार

सरकारी अस्पतालों से मिले आंकड़ों के मुताबिक, छत्‍तीसगढ़ में सबसे ज्यादा बिलासपुर में 3 साल में 1 लाख 10 हजार 925 डॉग बाइट के मामले सामने आए हैं.

Mamta Lanjewar | News18 Chhattisgarh
Updated: July 16, 2019, 10:58 AM IST
छत्तीसगढ़ में कुत्तों का आतंक, 3 लाख से अधिक लोगों को बनाया शिकार
पिछले तीन सालों में छत्तीसगढ़ के 3.16 लाख लोगों को कुत्तों ने काटा है. सांकेतिक तस्वीर.
Mamta Lanjewar | News18 Chhattisgarh
Updated: July 16, 2019, 10:58 AM IST
छत्तीसगढ़ में कुत्तों का आतंक काफी बढ़ गया है. एक आंकड़े के अनुसार, पिछले तीन वर्षों में छत्तीसगढ़ के 3.16 लाख लोगों को कुत्तों ने काटा है. प्रदेश के सरकारी अस्पताल के आंकड़ों में हर साल एक लाख से ज्यादा लोगों को कुत्तों के काटने के मामले दर्ज हुए हैं. कई जिलों में कुत्तों के काटने पर एंटी रैबिज वैक्‍सीन की कमी की शिकायतें भी सामने आती रहती हैं. कुत्तों के काटने को लेकर स्वास्थ्य विभाग से सामने आए आंकड़े हैरान करने वाले हैं.

सरकारी अस्पतालों से मिले आंकड़ों के मुताबिक, प्रदेश में सबसे ज्यादा बिलासपुर में 3 साल में 1 लाख 10 हजार 925 डॉग बाइट के मामले दर्ज हुए हैं. वहीं, दूसरे नंबर पर राजधानी रायपुर में 23 हजार 669 डॉग बाइट के मामले दर्ज किए गए. तीसरे नंबर पर बस्तर है. इस क्षेत्र में कुत्‍तों के काटने के 20 हजार 916 मामले सामने आए हैं. बड़ी बात यह है कि ये खुद सरकार के आंकड़े हैं. इसमें निजी अस्पतालों के आंकड़े शामिल नहीं हैं. यदि निजी अस्पतालों में दर्ज डॉग बाइट के मामले जोड़ दिए जाएं तो यह आंकड़ा कहीं ज्‍यादा हो जाएगा.

लाचार प्रशासन
रायपुर नगर निगम के महापौर प्रमोद दुबे का कहना है कि पेटा एक्ट के तहत इन कुत्तों को मार नहीं सकते. ऐसे में हम क्‍या करें? वहीं, बीजेपी प्रवक्ता श्रीचंद सुंदरानी का कहना है कि राजनीतिक सोच से ऊपर इसके लिए गंभीर प्लानिंग की जरूरत है, क्योंकि यह समस्या पूरे प्रदेश में है. बारिश के दिनों में डॉग बाइट के मामले तेजी से बढ़ते हैं. ऐसे में विशेष सतर्क रहने की जरूरत है.

ये भी पढ़ें:
पत्रकारिता विवि के प्रोफेसर पर आचार संहिता उल्लंघन का आरोप, बनी जांच कमेटी 

जांजगीर में ऑटो चालक कर रहे यात्रियों से मनमानी वसूली, ये है वजह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 16, 2019, 10:40 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...