अपना शहर चुनें

States

इंतजार कराने के बावजूद बयान दर्ज कराने नहीं पहुंचे डॉ. पुनीत गुप्ता, राजनीतिक बयानबाजी तेज

demo pic
demo pic

डीकेएस अस्पताल फर्जीवाड़ा मामले में मुख्य आरोपी डॉ. पुनीत गुप्ता एक बार फिर पुलिस के सामने पेश नहीं हुए हैं.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के दामाद डॉ. पुनीत गुप्ता को मंगलवार को फिर एक बार गोल बाजार थाने में उपस्थित होने के निर्देश दिए गए थे, लेकिन एसआईटी अधिकारियों के लंबा इंतजार करवाने के बावजूद बयान दर्ज कराने पुनीत गुप्ता पेश नहीं हुए. मालूम हो कि डीकेएस अस्पताल में 50 करोड़ रुपए के फर्जीवाड़ा में अस्पताल अधीक्षक के के सहारे की ओर से डॉ. पुनीत गुप्ता के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. इसके बाद कई बार पुनीत गुप्ता को बयान दर्ज कराने और पूछताछ के लिए नोटिस जारी किया जा चुका है लेकिन अब तक वे गोल बाजार पुलिस के सामने पेश नहीं हुए है और न ही अपना बयान दर्ज कराया है. मालूम हो कि पुलिस ने 26 अप्रैल को एक बार फिर नोटिस जारी करते हुए डॉ. पुनीत गुप्ता को थाने में पेश होने कहा था. इस बीच हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत डॉ. पुनीत गुप्ता ने जरुर हासिल कर ली थी, लेकिन हाईकोर्ट ने जांच में सहयोग करने के भी निर्देश दिए थे. पुलिस द्वारा नोटिस जारी कर उपस्थित होने और उसके बाद फिर एक बार नोटिस जारी कर उपस्थिति के निर्देश का डॉ. पुनीत गुप्ता एक तरह से मखौल उड़ा रहे हैं और मंगलवार को भी उपस्थित नहीं हुए. पुलिस के आला अधिकारी 3 घंटे इंतजार करते रहे. सीएसपी आजाद चौक नसर सिद्दीकी का कहना है कि एक बार फिर से डॉ. पुनीत गुप्ता को नोटिस जारी किया गया है.

वहीं भाजपा इस मामले में जहां डॉ. पुनीत गुप्ता के भाजपा से नहीं जुड़े होने का हवाला देकर बोलने से बच रही है तो वहीं कांग्रेस ने पुनीत गुप्ता के प्रस्तुत नहीं होने का हाईकोर्ट की अवमानना करार दे रही है और आरोपों की पुष्टि होने की बात कह रही है. कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी का कहना है कि डॉ. पुनीत गुप्ता पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के दामाद है. तीन बार नोटिस जारी होने के बावजूद वे थाने में बयान दर्ज कराने उपस्थित नहीं हुए. ये सरासर हाईकोर्ट के आदेश की अवमानना है. आपको कोर्ट ने थाने में पेश होने का निर्देश दिया है. अगर आप निर्दोष है तो थाने में आकर बयान दर्ज कराएं. पुलिस की पूछताछ से बच क्यों कहे हैं. फिलहाल अब एक बार फिर डॉ. पुनीत गुप्ता को नोटिस जारी कर दिया गया है. देखना होगा कि इस नोटिस के बाद पुनीत गुप्ता थाने में पेश होते हैं या नहीं.

ये भी पढ़ें:



महासमुंद में मनरेगा के तहत बने 80 फीसदी तालाब सूखे, निस्तरी के लिए भटक रहे ग्रामीण 
छत्तीसगढ़ सरकार ने सीधी भर्ती पर लगाई रोक 

ई-टेंडरिंग घोटाला: EOW के हाथ लगे अहम सुराग  
क क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स    

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज