आबकारी मंत्री कवासी लखमा की जुबान फिसली, बीजेपी की प्रदेश प्रभारी को कह गए - फूलन देवी

बीजेपी की प्रदेश प्रभारी डी पुरंदेश्वरी के धर्मांतरण के आरोपों का जवाब दे रहे थे कवासी लखमा.

बीजेपी की प्रदेश प्रभारी का नाम है डी पुरंदेश्वरी. लेकिन जब आबकारी मंत्री कवासी लखमा से पुरंदेश्वरी के आरोपों को लेकर पूछा गया तो चूकवश लखमा उनका नाम फूलन देवी कह गए, फिर सुधारने के क्रम में एक दूसरा ही नाम 'फूलेश्वरी' कहा.

  • Share this:
रायपुर. बीजेपी की प्रदेश प्रभारी डी पुरंदेश्वरी ने बस्तर समेत छत्तीसगढ़ के आदिवासी इलाकों में धर्मांतरण का आरोप लगाते हुए राज्य सरकार पर निशाना साधा था. वहीं, इस पर जब आबकारी मंत्री कवासी लखमा से सवाल किया किया गया तो उनकी जबान फिसल गई. रायपुर प्रेस क्लब में प्रेस से मिलिए कार्यक्रम के दौरान दो बार जब पुरंदेश्वरी के आरोपों पर उनसे सवाल पूछा गया तो कवासी लखमा ने पहले उन्हें फूलन देवी कहा तो दूसरी बार फूलेश्वरी.

कवासी लखमा ने धर्मांतरण के आरोपों पर कहा कि फूलन देवी, क्या नाम फूलेश्वरी, वह आई हैं हैदराबाद से. ऊपर-ऊपर हवाई जहाज से आई हैं. तो मीडिया से जो भी वॉटसऐप आया, उसी को देखी है. बस्तर का भूगोल और क्षेत्र उन्होंने नहीं देखा है. बस्तर में भारतीय जनता पार्टी के 15 साल के कार्यकाल में कितना कितना धर्मांतरण हुआ है. बस्तर में हमारी सरकार आने के बाद कोई धर्मांतरण नहीं हुआ है. बस्तर के आदिवासी संगठित हैं. आदिवासी लोग कितना अपने देवी-देवता को मानने वाले हैं. अपने 15 साल में आदिवासी को भारतीय जनता पार्टी ने पूछा नहीं है. आज आदिवासियों को हमारे मुख्यमंत्री अबुझमाड़ के घोटुल को मानने वाले को 10 लाख रुपया दे रहे हैं. हमारे आदिवासी हर त्योहार मनाते हैं. जितना हिंदू लोग त्योहार नहीं मनाते, उससे कहीं ज्यादा बस्तर के आदिवासी लोग त्योहार मनाते हैं. बस्तर के लोग धान, आमा का त्योहार मनाते हैं, माटी त्यौहार मनाते हैं. हम देवगुड़ी में जाते हैं. इसलिए हमलोग देवगुड़ी को पांच लाख रुपये दे रहे हैं. हमलोग आदिवासी की देवी, घोटुल, अबुझमाड़ को और आदिवासी लोगों को मजबूत करने का काम कर रहे हैं. इसलिए इनके पेट दर्द हो रहा है. ये लोग हमलोगों का मुकाबला नहीं कर नहीं पाए. भारतीय जनता पार्टी का 'झूठ बोलो, राज करो' काम है. जब ये लोग नहीं बोलेंगे तो नागपुर से डंडा आएगा. वहां से सजा और फटकार आएगा. इसलिए ये लोग बातें कर रहे हैं. आरएसएस की भाषा बोल रहे हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.