कृषि विश्वविद्यालय में सहायक प्राध्यापकों की भर्ती में बड़ी गड़बड़ी की आशंका

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में संचालित इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय में असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती में बड़ी गड़बड़ी का खुलासा हुआ है.

Devwrat Bhagat | News18 Chhattisgarh
Updated: February 13, 2019, 5:45 PM IST
कृषि विश्वविद्यालय में सहायक प्राध्यापकों की भर्ती में बड़ी गड़बड़ी की आशंका
Demo Pic.
Devwrat Bhagat
Devwrat Bhagat | News18 Chhattisgarh
Updated: February 13, 2019, 5:45 PM IST
छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में संचालित इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय में असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती में बड़ी गड़बड़ी का खुलासा हुआ है. आरटीआई से मिले दस्तावेजों के आधार यूनिवर्सिटी के ही पूर्व छात्र आशीष कुमार शर्मा ने ये खुलासा किया है कि बीते सालों में जितनी भी भर्तियां हुई हैं, उसमें आरक्षण रोस्टर को दरकिनार कर एससी, एसटी वर्ग के लिए आरक्षित पदों में सामान्य और ओबीसी वर्ग से अपने चहेतों की भर्ती कर ली गयी.

आशीष शर्मा के मुताबिक अब यही असिस्टेंट प्रोफेसर प्रमोशन पाकर बड़े पदों पर बैठे हुए हैं. आशीष ने न्यूज़ 18 को वो तमाम दस्तावेज उपलब्ध कराए गए, जिसके आधार पर भर्तियों में गड़बड़ी का दावा किया जा रहा है. दस्तावेजों के आधार पर दावा किया जा रहा है कि नियमों को दरकिनार कर असिस्टेंट प्रोफेसरों की भर्ती की गयी है.

हैरानी की बात ये है कि ये गड़बड़ी किसी एक या दो पदों पर नहीं बल्कि 150 से ज्यादा पदों पर हुई भर्तियों में हुई है, जिसमें एसटी के 99 और एससी के 52 पदों पर दूसरे वर्ग के उम्मीद्वारों की भर्ती हो गयी है. यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र आशीष कुमार ने इसमें बड़े भ्रष्टाचार की आशंका जाहिर की है. साथ ही मामले में जांच की मांग भी की है.
ये भी पढ़ें: बस्तर से बीजेपी की टिकट पर अकेले जीतने वाले भीमा मंडावी बने विधायक दल के उपनेता 

ये भी पढ़ें: 16 सांसदों ने छत्‍तीसगढ़ सीएम भूपेश बघेल को लिखी चिठ्ठी 


ये भी पढ़ें: AK-47 के कारतूस और 5 लाख रुपये कैश के साथ बस्तर में पकड़ाया नक्सलियों का शहरी नेटवर्क 
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर