अंतागढ़ टेप कांड मामला: अजीत जोगी, राजेश मूणत, अमित जोगी सहित 5 लोगों पर FIR दर्ज

वरिष्ठ कांग्रेस नेत्री डॉ. किरणमयी नायक ने ये एफआईआर दर्ज कराई है. अंतागढ़ टेप कांड मामले में SIT जांच के तहत की गई ये पहली बड़ी कार्रवाई है.

Awadhesh Mishra | News18 Chhattisgarh
Updated: February 4, 2019, 10:50 AM IST
अंतागढ़ टेप कांड मामला: अजीत जोगी, राजेश मूणत, अमित जोगी सहित 5 लोगों पर FIR दर्ज
सांकेतिक तस्वीर
Awadhesh Mishra | News18 Chhattisgarh
Updated: February 4, 2019, 10:50 AM IST
अंतागढ़ टेपकांड मामले में एक बड़ी कार्रवाई हुई है. इस केस में अजीत जोगी, उनके बेटे अमित जोगी, पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह के दामाद पुनीत गुप्ता, राजेश मूणत और मंतूराम पवार पर धोखाधड़ी और पैसों के प्रलोभन और भ्रष्टाचार अधिनियम की धाराओं के तहत मामला पंडरी थाने में दर्ज किया गया है. वरिष्ठ कांग्रेस नेत्री डॉ. किरणमयी नायक ने ये एफआईआर दर्ज कराई है. अंतागढ़ टेप कांड मामले में SIT जांच के तहत की गई ये पहली बड़ी कार्रवाई है.

 

बता दें कि अंतागढ़ टेपकांड मामले में डॉ. किरणमई नायक की शिकायत पर पंडरी थाने में एफआईआर दर्ज की गई है. IPC 1860 की धारा 406, 420 171-ई, 171-एफ, 120-बी के तहत मामला दर्ज किया गया है. भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम 1988 की धारा 9 और 13 के तहत भी मामला दर्ज. इस मामले में शिकायतकर्ता कांग्रेस नेत्री किरणमई नायक का कहना है कि मामले को लेकर 2016 में हमने शिकायत दर्ज कराई थी. शिकायत का रिमाइंडर 2017 में पुलिस को दिया गया था. तात्कालिक सरकार ने मामला दर्ज नहीं होने दिया था. तात्कालिक सीएम के परिजन का नाम होने से नहीं हुई थी कार्रवाई. उसी शिकायत को अब री-राइट करके FIR कराया गया है.

वरिष्ठ कांग्रेस नेत्री डॉ. किरणमयी नायक ने ये एफआईआर दर्ज कराई है


 

क्या था अंतागढ़ टेपकांड मामला

साल 2014 में अंतागढ़ के तत्कालीन विधायक विक्रम उसेंडी ने लोकसभा का चुनाव जीतने के बाद इस्तीफा दिया था. वहां हुए उपचुनाव में कांग्रेस ने पूर्व विधायक मंतू राम पवार को प्रत्याशी बनाया था. भाजपा से भोजराम नाग खड़े हुए थे. नाम वापसी के अंतिम वक्त पर मंतूराम ने अपना नामांकन वापस ले लिया था. इससे भाजपा को एक तरह का वाकओवर मिल गया था. बाद में फिरोज सिद्दीकी नाम से एक व्यक्ति का फोन कॉल वायरल हुआ था. आरोप लगे थे कि तब कांग्रेस में रहे पूर्व सीएम अजीत जोगी के पुत्र अमित जोगी ने मंतू की नाम वापसी कराई. टेपकांड में कथित रूप से अमित जोगी और तत्कालीन मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के दामाद पुनीत गुप्ता के बीच हुई बातचीत बताई गई थी.
 

ये भी पढ़ें:

भाजपा की समीक्षा बैठक में जोरदार हंगामा, नंदे साहू और जिला अध्यक्ष राजीव अग्रवाल में बहस 

BREAKING: ई-टेंडरिंग मामले की जांच करने CHiPS के ऑफिस पहुंचे EOW प्रमुख एसआरपी कल्लूरी 

भाजपा जिला इकाई की बैठक में 'हार' पर होगी समीक्षा, पीएम मोदी-अमित शाह के दौरे पर भी चर्चा 

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...