लाइव टीवी

मुश्किलों में पूर्व CM अजीत जोगी, कोर्ट ने इस मामले में खारिज की बेल पिटिशन

Prakash Chandra Hota | News18 Chhattisgarh
Updated: September 16, 2019, 7:05 PM IST
मुश्किलों में पूर्व CM अजीत जोगी, कोर्ट ने इस मामले में खारिज की बेल पिटिशन
पूर्व सीएम अजीत जोगी की अग्रीम जमानत याचिका खारिज कर दी गई है. (File Photo)

बता दें कि रायपुर के पंडरी थाने में दर्ज की गई एफआईआर के खिलाफ अजीत जोगी ने याचिका लगाई थी.

  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी (Former CM Ajit Jogi) को तगड़ा झटका लगा है. हाईप्रोफाइल अंतागढ़ टेपकांड (Antagarh Tape scandal) मामले मेंं फंसे अजीत जोगी की अग्रीम जमानत याचिका (Advance bail petition) कोर्ट ने खारिज कर दी है. जानकारी के मुताबिक, एडीजे विवेक कुमार वर्मा ने अजीत जोगी की बेल पिटिशन (bail petition) खारिज (dismissed) कर दी है. कोर्ट में सुनवाई के बाद इस मामले में फैसला आया है. बता दें कि रायपुर के पंडरी थाने में दर्ज की गई एफआईआर के खिलाफ अजीत जोगी ने याचिका लगाई थी. अजीत जोगी के वकील एसके फरहान ने न्यूज़ 18 से कहा कि अब अग्रिम बेल के लिए बिलासपुर हाइकोर्ट (Bilaspur High court) जाएंगे.

पंडरी थाने में दर्ज हुई थी FIR 

बता दें कि अंतागढ़ टेपकांड मामले में कांग्रेस नेत्री डॉ. किरणमई नायक (Kiranmaye Nayak) की शिकायत पर पंडरी थाने में एफआईआर (FIR) दर्ज की गई थी. IPC 1860 की धारा 406, 420 171-ई, 171-एफ, 120-बी के तहत मामला दर्ज किया गया था. भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम 1988 की धारा 9 और 13 के तहत भी मामला दर्ज हुआ था. शिकायतकर्ता किरणमई नायक का कहना था कि मामले को लेकर 2016 में शिकायत दर्ज कराई थी. शिकायत का रिमाइंडर 2017 में पुलिस को दिया गया था. तात्कालिक सरकार ने मामला दर्ज नहीं होने दिया था. तात्कालिक सीएम के परिजन का नाम होने से नहीं कार्रवाई नहीं हुई थी. उसी शिकायत को अब री-राइट करके FIR कराया गया है.

chhattisgarh, raipur, antagarh tape kand, antagarh tape scandal, ajit jogi in antagarh tape case, court dismissed bail petition of ajit jogi, bail petition of ajit jogi rejected, ajit jogi in antagarh tape case, छत्तीसगढ़, रायपुर, अंतागढ़ टेपकांड, अंतागढ़ टेप केस, अजीत जोगी, अंतागढ़ मामले में अजीत जोगी, अजीत जोगी की जमानत याचिका खारिज, अजीत जोगी की अग्रीम जमानत याचिका खारिज, अंतागढ़ मामले में अजीत जोगी, ajit jogi
अजीत जोगी के वकील एसके फरहान ने न्यूज़ 18 से कहा कि अब अग्रिम बेल के लिए बिलासपुर हाइकोर्ट जाएंगे.


क्या है अंतागढ़ टेपकांड?

साल 2014 में अंतागढ़ के तत्कालीन विधायक विक्रम उसेंडी ने लोकसभा का चुनाव जीतने के बाद इस्तीफा दिया था. वहां हुए उपचुनाव में कांग्रेस ने पूर्व विधायक मंतू राम पवार को प्रत्याशी बनाया था. भाजपा से भोजराम नाग खड़े हुए थे. नाम वापसी के अंतिम वक्त पर मंतूराम पवार (Manturam Pavar) ने अपना नामांकन वापस ले लिया था. इससे भाजपा को एक तरह का वाकओवर मिल गया था. बाद में फिरोज सिद्दीकी नाम से एक व्यक्ति का फोन कॉल वायरल हुआ था. आरोप लगे थे कि तब कांग्रेस में रहे पूर्व सीएम अजीत जोगी के पुत्र अमित जोगी ने मंतू की नाम वापसी कराई. टेपकांड में कथित रूप से अमित जोगी और तत्कालीन मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह (Dr. Raman Singh) के दामाद पुनीत गुप्ता के बीच हुई बातचीत बताई गई थी.

ये भी पढ़ें:
Loading...

खाना खाने के बाद रात को सोया पूरा परिवार, अगले दिन इस वजह से मचा हंगामा 

 घर पर अकेली 5 साल की बच्ची से की छेड़छाड़, पड़ोसी गिरफ्तार  

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 16, 2019, 6:54 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...