पूर्व सीएम अजीत जोगी को फिर आया हार्ट अटैक, सेहत को लेकर डॉक्टरों ने दी ये बड़ी जानकारी
Raipur News in Hindi

पूर्व सीएम अजीत जोगी को फिर आया हार्ट अटैक, सेहत को लेकर डॉक्टरों ने दी ये बड़ी जानकारी
छत्तीसगढ़ के पहले मुख्यमंत्री अजीत जोगी का निधन. (फाइल फोटो).

श्री नारायणा अस्पताल के मैनेजिंग डायरेक्टर और वरिष्ठ डॉक्टर सुनील खेमका ने जानकारी देते हुए कहा देर रात कार्डियक अरेस्ट के बाद डॉक्टरों की विशेष टीम लगातार मॉनिटरिंग कर रही है.

  • Share this:
 रायपुर. छत्तीसगढ़ के पूर्व और प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी (Ajit Jogi) की हालत बेहद गंभीर हो चली है. बीते 1 हफ्ते से लगातार उनके स्वास्थ्य में उतार-चढ़ाव जारी है तो वहीं मेडिकली लैंग्वेज में उनकी स्थिति हिमो डाइनामिकली स्थिर बनी हुई है. उन्हें राइट ट्यूब के माध्यम से आहार दिया जा रहा था, तो वहीं वेंटिलेटर के माध्यम से सांस दी जा रही है. बीती देर रात अजीत जोगी को एक बार फिर कार्डियक अरेस्ट (Cardiac Arrest) हुआ जिसके बाद उनकी स्थिति बेहद गंभीर बनी हुई है.


श्री नारायणा अस्पताल के मैनेजिंग डायरेक्टर और वरिष्ठ डॉक्टर सुनील खेमका ने जानकारी देते हुए कहा देर रात कार्डियक अरेस्ट के बाद डॉक्टरों की विशेष टीम लगातार मॉनिटरिंग कर रही है. उनकी स्थिति गंभीर बनी हुई है. उनका पल्स रेट काफी ऊपर नीचे हो रहा है. ब्लड प्रेशर में भी लगातार उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहा है. डॉ. खेमका ने यह भी कहा अजीत जोगी की लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है. पर सेकण्ड हेल्थ काउंट के जरिए उन्हें ऑब्जर्व किया जा रहा है.

09 मई को हुआ था कार्डियक अरेस्ट


9 मई को सुबह करीब 10-11 बजे के बीच अजीत जोगी तैयार होने के बाद अपने लॉन में व्हीलचेयर के माध्यम से टहल रहे थे. उस दौरान गंगा इमली भी खाए थे जिसके बाद उन्हें कार्डियक अरेस्ट हुआ था. गंभीर स्थिति में राजधानी रायपुर के देवेंद्र नगर स्थित नारायणा अस्पताल में उन्हें भर्ती कराया गया. तब से लेकर आज तक स्थिति गंभीर बनी हुई है. बीते 15 दिनों से वे कोमा में चल रहे हैं. तो वहीं देशभर के अलग-अलग अस्पताल के वरिष्ठ डॉक्टरों से टेली कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चर्चा कर अजीत जोगी का उपचार किया जा रहा है. उन्हें लगातार वेंटिलेटर के माध्यम से सांस दी जा रही है, तो वहीं उनके ब्रेन को एक्टिव करने के लिए म्यूजिक थेरेपी का भी सहारा लिया जा रहा है.




देशभर के राजनीति के केंद्र बिंदु


अजीत जोगी लगभग देश के एकमात्र ऐसे राजनेता है जिन्होंने प्रोफेशनली इंजीनियर प्रोफेसर आईपीएस के साथ आईएएस बनने का भी लक्ष्य पूरा किया था. लंबे समय तक कलेक्ट्री करने के बाद वह राजनीति में शामिल हुए तब से लेकर आज तक अजीत जोगी राजनीति के केंद्र बिंदु माने जाते हैं. इसका प्रत्यक्ष प्रमाण यह भी है जैसे ही वह बीमार हुए क्या पक्ष या विपक्ष क्या सोनिया गांधी क्या राहुल गांधी, देशभर के नेता लगातार उनकी सेहत को लेकर चर्चा कर रहे हैं.






ये भी पढ़ें: 





अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज