पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह के आरोपी दामाद पुनीत गुप्ता पर शिकंजा कसने की तैयारी

Devwrat Bhagat | News18 Chhattisgarh
Updated: September 9, 2019, 12:57 PM IST
पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह के आरोपी दामाद पुनीत गुप्ता पर शिकंजा कसने की तैयारी
पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के दामाद डॉ. पुनीत गुप्ता पर शिकंजा कसने लगा है.

रायपुर (Raipur) के डीकेएस (DKS) सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में घोटाला मामले में फंसे पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह (Dr. Raman Singh) के दामाद पर शिकंजा कसने लगा है.

  • Share this:
रायपुर: छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) सुप्रीमो और पूर्व सीएम अजीत जोगी (Ajit Jogi) के बेटे अमित जोगी (Amit Jogi) के खिलाफ एफआईआर (FIR) के बाद अब पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह (Dr. Raman Singh) के दामाद पर शिकंजा कसने लगा है. डॉ. पुनीत गुप्ता (Dr. Punit Gupta) के कार्यकाल में डीकेएस (DKS) सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में हुई अनियमितता के लिए जांच कमेटी का गठन राज्य सरकार ने कर दिया है. इससे अमित जोगी के बाद अब रमन सिंह के दामाद पुनीत गुप्ता पर खतरे की तलवार लटक रही है.

राजधानी रायपुर (Raipur) के डीकेएस हॉस्पिटल में अनियमितता के मामला में सीएम भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने जांच के निर्देश दिये हैं, जिसमें मुख्य सचिव की अध्यक्षता में चार सदस्यीय टीम का गठन किया गया है. हॉस्पिटल के निर्माण में शासकीय धन के अविवेकपूर्ण ढंग से व्यय की जांच के लिए मुख्य सचिव वित्त, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री और सचिव स्वास्थ्य सदस्य बनाए गये हैं. ये समिति विभिन्न बिन्दुओं पर जांच करके एक माह के भीतर अपना प्रतिवेदन सौंपेंगी. इसके अलावा मुख्यमंत्री ने सुपर स्पेश्यिलिटी अस्पताल के निर्माण पर हुए संपूर्ण व्यय का 2 माह में सीएजी से आडिट कराने के निर्देश भी सरकार की ओर से दिए गए हैं. साथ ही इसके निर्माण में छत्तीसगढ़ मेडिकल कार्पोरेशन की भी भूमिका रही है. इसलिए उसका भी आडिट साथ-साथ कराने को कहा गया है.

सियासत भी तेज
मामले को लेकर कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय ठाकुर का कहना है पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के दामाद पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं और इसकी जांच होनी भी जरूरी है. इधर जांच को लेकर बीजेपी प्रवक्ता गौरीशंकर श्रीवास का कहना है कि कांग्रेस सरकार लगातार बीजेपी नेताओं और उनसे जुड़े लोगों को टारगेट कर जांच करा रही है, लेकिन उनकी बनायी पिछली जांच कमेटियों में कुछ भी नहीं निकला. इससे साफ है कि सिर्फ राजनीतिक फायदे के लिए ऐसा किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें: सुकमा में सक्सेस हुआ नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन मानसून, मिली ये सफलता  

ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ BJP में क्यों गायब हो गई सेकेंड लाइन, क्या हाशिये पर हैं युवा नेता?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 9, 2019, 11:36 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...