लाइव टीवी

पूर्व मंत्री राजेश मूणत की हटाई गई पूरी सुरक्षा, चुनाव हारने के बाद भी मिले थे दो PSO

Mamta Lanjewar | News18 Chhattisgarh
Updated: January 16, 2020, 3:58 PM IST
पूर्व मंत्री राजेश मूणत की हटाई गई पूरी सुरक्षा, चुनाव हारने के बाद भी मिले थे दो PSO
इस मसले पर राजेश मूणत का कहना है कि सुरक्षा हटाने से उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ेगा.

कांग्रेस ने इसे रिव्यू के बाद लिया गया फैसला करार दिया है.

  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की सत्ता जाने के बाद बीजेपी (BJP) की मुश्किलें भी बढ़ती जा रही है. अब एक बार फिर राज्य सरकार ने बीजेपी के एक पूर्व मंत्री की सुरक्षा (Security) में कटौती कर दी है. बता दें कि राज्य सरकार ने बीजेपी के पूर्व मंत्री राजेश मूणत (Rajesh Munat) की सुरक्षा पूरी तरह से हटा दी है. जानकारी के मुताबिक विधानसभा चुनाव हाने के बाद भी मूणत को दो पीएसओ की सुरक्षा दी जा रही थी. अब सरकार ने इस सुरक्षा को वापस ले लिया है. इस मसले पर राजेश मूणत का कहना है कि सुरक्षा हटाने से उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ेगा, तो वहीं कांग्रेस (Congress) ने इसे रिव्यू के बाद लिया गया फैसला करार दिया है.

सुरक्षा हटाने पर राजनीति

बता दें कि राज्य सरकार ने पूर्व मंत्री राजेश मूणत की सुरक्षा पूरी तरह से हटा दी है. मालूम हो कि चुनाव हारने के बाद भी उन्हें दो पीएसओ की सुरक्षा मिली थी. वहीं तीन दिन पहले दोनों पीएसओ को भी सरकार ने वापस बुला लिया है. गौरतलब है कि, मूणत 2003 से 2018 तक करीब 15 साल तक राज्य मंत्री रहे हैं. राजेश मूणत की गिनती भाजपा के कद्दावर नेताओं में होती है. वहीं इस मसले पर राजेश मूणत का कहना है कि हमने कभी अपनी सरकार में किसी की सुरक्षा नहीं हटाई. उनका कहना है कि सुरक्षा हटाने से उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता है. वहीं कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी का कहना है कि सरकार का इससे कोई वास्ता नहीं है. पुलिस के रिव्यू पर ये निर्णय लिया जाता है.

इनकी सुरक्षा में भी की गई थी कटौती

गौरतलब हो कि छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह (Dr. Raman Singh) की सुरक्षा में भी कटौती कर दी गई थी. रमन सिंह के साथ ही उनके परिवार के सदस्यों की सुरक्षा में भी कमी की दी गई थी. पूर्व सीएम डॉ. सिंह को पहले जेड प्लस (Z+) श्रेणी की सुरक्षा दी गई थी. अब केंद्रीय गृह विभाग की समीक्षा के बाद उनकी सुरक्षा को जेड श्रेणी की कर दी गई है. पूर्व सीएम डॉ. सिंह के साथ ही उनके परिवार में बेटे व पूर्व सांसद अभिषेक सिंह, बेटी अस्मिता सिंह गुप्ता, पत्नी वीणा सिंह और बहू ऐश्वर्या सिंह की सुरक्षा में भी कमी की गई है.

ये भी पढ़ें: 

रमन सिंह बोले- CM भूपेश बघेल को नहीं है NIA कानून की जानकारी NIA कानून 2008 को छत्तीसगढ़ सरकार ने दी चुनौती, सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की याचिका 

पंचायत चुनाव में इस 'खास प्लानिंग' से कांग्रेस को मात देने की फिराक में BJP!  

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 16, 2020, 3:54 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर