Home /News /chhattisgarh /

gang busted for robbing 50 lakh rupees from businessman 10 accused arrested cgnt

व्यापारी से 50 लाख रुपयों की लूट का पर्दाफाश, गिरफ्तार लुटेरों ने बढ़ाई पुलिस की उलझन, जानें वजह

रायपुर में लूट की वारदात का खुलासा पुलिस ने कर दिया है.

रायपुर में लूट की वारदात का खुलासा पुलिस ने कर दिया है.

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में 50 लाख रुपयों की लूट मामले में पुलिस ने बड़ी सफलता का दावा किया है. पुलिस का दावा है कि मामले के मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. हालांकि लूट की रकम को लेकर अब भी संशय की स्थिति है. क्योंकि आरोपियों का कहना है कि उन्होंने 12-15 लाख रुपये ही लूटे थे. जबकि व्यापारी ने 50 लाख रुपयों के लूट का दावा किया था.

अधिक पढ़ें ...

रायपुर. छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में 16 मई को देवपुरी इलाके में अनाज कारोबारी से हुई लूट के मामले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है. रायपुर पुलिस ने मामले में कुल 10 आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जिसमें दो नाबालिग भी शामिल हैं. वहीं तीन आरोपी अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं. मामले का खुलासा होने के बाद अब लूट की रकम को लेकर कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं. दरअसल आरोपियों से पुलिस ने केवल 7 लाख 95 हजार 400 रुपये और घटना के दौरान इस्तेमाल की गयी बाइक ही जब्त की है. जबकि पीड़ित कारोबारी नरेन्द्र खेत्रपाल ने पुलिस को बताया था कि उससे 50 लाख रुपये की लूट हुई है.

इधर आरोपियों से जब पुलिस ने पुछताछ की तब पता चला कि कारोबारी से 12 से 15 लाख रुपए की ही लूट हुई है. ऐसे में अब पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि आखिर घटना के दौरान सच में लूटी गयी रकम कितनी थी और बाकी के तीन आरोपी कहां है. मामले का खुलासा करते हुए रायपुर ग्रामीण एएसपी कीर्तन राठौर ने बताया कि डूमरतराई इलाके कारोबारी नरेन्द्र खेत्रपाल की दुकान है और उसी इलाके में काम करने वाले देवेन्द्र धृतलहरे और अजय घटना के दिन से ही गायब हैं. वहीं अभनपुर के केन्द्री गांव में रहने वाले शिव कुमार कोसले के बारे में भी पुलिस को जानकारी मिली और ये भी पता चला कि इस कांड में शिव कुमार मास्टर माइंड है. मामले में व्यापारी के मुंशी की भी भूमिका संदिग्ध बताई जा रही है. पुलिस को आरोपियों ने बताया है कि उससे ही व्यापारी का इनपुट उन्हें मिला था.

जंगल में बैठक कर प्लानिंग
पुलिस ने बताया कि जंगल में बैठकर शिव कुमार, देवेन्द्र धृतलहरे और अजय ने प्लानिंग की और इसमें मनीष यादव, टिकेश चतुर्वेदी, सूरज और अन्य आरोपियों को शामिल किया. सभी इस कांड को अंजाम देने के लिए राजी हो गये. घटना को अंजाम देने के बाद सभी अलग-अलग फरार हो गये वहीं वारदात के दो दिन के भीतर ही आरोपी देवेन्द्र धृतलहरे, अजय और शिव कुमार कोसले ने लूट की रकम आपस में बांट ली. इसी दौरान उन्हे बैग से व्यापारी का एटीएम कार्ड और खाते की डिटेल भी मिली जिससे शशिकांत और बनवारी नाम के युवकों ने कारोबारी के खाते से 40 हजार रुपये निकाल लिये. सभी आरोपियों को अभनपुर से पकड़ा गया है. ये आरोपी अभनपुर के केन्द्री और मुजगहन गांव के रहने वाले हैं.

Tags: Chhattisgarh news, Raipur news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर