नर्सों के आंदोलन से स्वास्थ्य सेवाएं ठप्प, सरकार पर अनदेखी का आरोप

समान काम समान वेतन और समान प्रशिक्षण, अन्य राज्यों की तर्ज पर पे-स्केल 4600 करने की मांग, नर्सों को ग्रेड 2 का दर्जा देने जैसे कई मांगों को लेकर कर रहे आंदोलन

Yugal Tiwari | News18 Chhattisgarh
Updated: May 18, 2018, 6:36 PM IST
नर्सों के आंदोलन से स्वास्थ्य सेवाएं ठप्प, सरकार पर अनदेखी का आरोप
demo pic
Yugal Tiwari
Yugal Tiwari | News18 Chhattisgarh
Updated: May 18, 2018, 6:36 PM IST
छत्तीसगढ़ में कर्मचारियों का आन्दोलन थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. अपनी 9 सुत्रीय मांगों को लेकर नर्स आन्दोलन पर चले गए है जिससे स्वास्थ्य सुविधा ठप्प पड़ गई है.

नर्सो ने एक महीने पूर्व स्वास्थ्य विभाग और राज्य सरकार को चरणबद्ध आन्दोलन कर चेतावनी दे दिया था कि उनकी 9 सुत्रीय मांगे पुरी नहीं होगी तो अनिश्चितकालीन आन्दोलन पर चले जाएंगे.

सरकार और विभाग के अनदेखी के खिलाफ आखिर प्रदेश के नर्सों ने अस्पताल से निकल कर हल्ला बोल दिया है. अब जब तक मांगे पुरी नहीं होगी तब तक अनिश्चितकालीन आन्दोलन पर डटे रहने की बात नर्स कर रहे है.

समान काम समान वेतन और समान प्रशिक्षण, अन्य राज्यों की तर्ज पर पे-स्केल 4600 करने की मांग,नर्सों को ग्रेड 2 का दर्जा देने, स्टाफ नर्स का नाम परिवर्तन कर नर्सिंग ऑफिसर करने,कार्य स्थल के पास घर की व्यवस्था,एमसीआई के अनुसार अनुकम्पा नियुक्ती की मांग को लेकर नर्स अड़े हुए है.

Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर