किसे चुनेगी राजनांदगांव की जनता, अटल बिहारी वाजपेयी का खून या उनकी पार्टी

अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करुणा शुक्ला कहाकि जनता अटल के नाम पर वोट मांगने वालों को नकार देगी. वह उनके खून को चुनेगी. अटल बिहारी वाजपेयी ने छत्तीसगढ़ का निर्माण किया और रमन सिंह ने यहां सिर्फ भ्रष्टाचार किया है.

Ravi Dubey | News18 Chhattisgarh
Updated: November 10, 2018, 6:35 PM IST
Ravi Dubey | News18 Chhattisgarh
Updated: November 10, 2018, 6:35 PM IST
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह को इस बार उनकी पार्टी के पितृपुरुष अटल बिहार वाजपेयी के परिवार से ही चुनौती मिल रही है. राजनांदगांव विधानसभा सीट से छत्तीसगढ़ कांग्रेस ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करुणा शुक्ला को मैदान में उतारा है. करुणा शुक्ला पिछले लोकसभा चुनाव के पहले भारतीय जनता पार्टी से अलग होकर कांग्रेस में आ गईं थीं.

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018 में कांग्रेस ने खास रणनीति के तहत मुख्यमंत्री रमन सिंह के अभेद किले में सेंध लगाने की रणनीति तैयारी की है. दरअसल पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का छत्तीसगढ़ के गठन में बड़ा योगदान था. उनके कार्यकाल के दौरान ही छ्त्तीसगढ़ राज्य मध्यप्रदेश से अलग होकर अस्तित्व में आया था.

बीजेपी अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर छत्तीसगढ़ की जनता से वोट मांगती रही है. इस बार भी चुनावी पोस्टरों में रमन सिंह के पीछे यदि किसी की परछाई नजर आती है तो वह अटल बिहारी वाजपेयी ही हैं. लेकिन अटल की मौत के बाद उनकी श्रद्धांजलि सभा में बीजेपी के कुछ नेताओं का हंसते हुए वीडियो सामने आने के बाद उनकी भतीजी करुणा शुक्ला हमलावर हो गईं थीं. अब वे रमन सिंह के खिलाफ कांग्रेस के टिकट पर अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर ही वोट मांग रहीं हैं.

छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव का प्रचार अपने चरम पर है. हर कोई अपनी ताकत झोंकने में लगा हुआ है. वहीं राजनांदगांव से मुख्यमंत्री रमन सिंह को टक्कर देने के लिए कांग्रेस ने अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करुणा शुक्ला को अपना उम्मीदवार बनाया है. करुणा शुक्ला अपने चुनावी कर्यक्रमों में जोरशोर से जुटी हुई हैं और अपनी जीत को लेकर आश्वस्त दिख रही हैं.

जमानत की रकम भरने 10 हजार के सिक्के लेकर पहुंचा प्रत्याशी, 5 अफसरों ने 90 मिनट में पूरी की गिनती

कहा जा रहा है कि सीएम रमन सिंह और करुणा शुक्ला दोनों ही अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर लोगों से वोट मांग रहे हैं. कुछ ऐसे ही सवाल न्यूज18 के संवाददाता रवि दुबे ने भी पूछे जिसके जवाब में करुणा शुक्ला का कहना था कि मैं तो अटल बिहारी वाजपेयी का खून हूं, उनके नाम पर वोट क्यों नहीं मांग सकती?

आगे उन्होंने बताया कि जनता अटल के नाम पर वोट मांगने वालों को नकार देगी. वह उनके खून को चुनेगी. रमन सिंह ने जो भ्रष्टाचार किया है, उसे मैं लोगों के बीच उजागर कर रही हूं. छत्तीसगढ़ की सारी जनता रमन सिंह से नाराज है.
Loading...
MP : कांग्रेस की नयी सूची में सरताज सिंह का नाम, बाक़ी और 14 सीट के लिए ऐलान

जब उनसे पूछा गया कि 15 साल से सरकार चला रहे मुख्यमंत्री के खिलाफ चुनाव में उतरना आपके लिए कितना चुनौती भरा है तो उनका जवाब था कि रमन सिंह मेरे लिए नहीं, मैं उनके लिए चुनौती हूं. रमन सिंह और उनका परिवार मुझसे डरा हुआ है.

VIDEO : सरताज सिंह भी बाग़ी हुए, बीजेपी छोड़ कांग्रेस का हाथ थामा

आगे उन्होंने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी ने छत्तीसगढ़ का निर्माण किया और रमन सिंह ने यहां सिर्फ भ्रष्टाचार किया है. नरेंद्र मोदी, ना खाऊंगा, ना खाने दूंगा कि बातें करते हैं, लेकिन जिस पनामा पेपर लीक मामले में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की कुर्सी चली गई. उसमें ही रमन सिंह के बेटे के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई, ये कैसी सरकार है.

VIDEO : सत्यव्रत चतुर्वेदी ने बेटे को सपा से उतारा मैदान में, कहा-कांग्रेस ग़लती कर रही है

करुणा शुक्ला से जब य़े पूछा गया कि लोग आपके बाहरी होने पर भी सवाल उठा रहे हैं तो उनका कहना था कि मैं बाहरी नहीं हूं, यहां के लोग मुझे एक नेता के तौर पर जानते हैं और राजनांदगांव के लिए कभी रमन सिंह भी बाहरी ही थे.

MP : बेटे-बहू के सामने बेबस बीजेपी, आकाश विजयवर्गीय-कृष्णा गौर को टिकट, ताई-तोमर खाली हाथ
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर