बजट से पहले भूपेश कैबिनेट की अहम बैठक में लिए गए ये अहम निर्णय

कैबिनेट मीटिंग के बाद मीडिया से चर्चा करते मंत्री रविन्द्र चौबे.
कैबिनेट मीटिंग के बाद मीडिया से चर्चा करते मंत्री रविन्द्र चौबे.

छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र से पहले मंगलवार को हुए भूपेश कैबिनेट की बैठक में कई अहम निर्मण लिए गए.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र से पहले मंगलवार को हुए भूपेश कैबिनेट की बैठक में कई अहम निर्मण लिए गए. इसमें चिटफंड अभिकर्ताओं पर दर्ज एफआईआर की वापसी, भू-राजस्व संसोधिन अधिनियम के उप धारा में संसोधन, जिला सहकारिता बैंकों के अपेक्स बैंक में विलय के प्रस्ताव को निरस्त करना प्रमुख रूप से शामिल है. अपेक्स बैंक में विलय का फैसला पिछली भाजपा सरकार ने लिया था, जिसे पलट दिया गया है.

बता दें कि छत्तीसगढ़ में 286 चिटफंड अभिकर्ताओं सहित कुल 424 मामले दर्ज हैं. वहीं 199 चिटफंड कंपनियों में 2 लाख 70 हजार 616 निवेशकों के 11 अरब 5 करोड़ से अधिक रुपये डूबे हुए हैं, जिन्हें वापस दिलाने के लिए सरकार नीति बनाकर कार्य करेगी. इसको लेकर जरूरी दिशानिर्देश जारी कर दिए गए हैं.

कैबिनेट बैठक के बाद मंत्री रविन्द्र चौबे ने मीडिया से चर्चा की. इसमें उन्होंने कैबिनेट में हुए फैसलों की जानकारी दी. मंत्री चौबे ने बताया कि कुल 80.36 लाख मैट्रिक टन धान खरीदी के बाद चावल के ऊपार्जन के लिए राज्य स्तर पर पहल करने का निर्णय लिया गया है. इन सब के अलावा भू-राजस्व अधिनियम की उप धाराओं में संसोधन और जिला सहकारी बैंकों के अपेक्स बैंक में विलय के प्रस्ताव को रद्द करने का निर्णय लिया है.



ये भी पढ़ें: भूपेश सरकार में जिलों के प्रभारी मंत्री तय, जल्द हो सकता है नामों का ऐलान 
ये भी पढ़ें: EXCLUSIVE: राशन कार्ड के दायरे में आएगा छत्तीसगढ़ का हर परिवार, 1 रुपये में मिलेगा चावल! 
ये भी पढ़ें: आतंकवादी संगठनों से जुड़ रहे माओवादियों के तार, बस्तर में सुरक्षा एजेंसियां चौकन्नी 
ये भी पढ़ें: VIDEO: अंतागढ़ टेप कांड पर बोलने से बचे पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज