Chhattisgarh News: मानसून की अधूरी तैयारी, कागजों में निगम की रणनीति, फिर डूबेगा रायपुर?

रायपुर में मानसून से पहले की अधूरी तैयारी.

रायपुर में मानसून से पहले की अधूरी तैयारी.

Raipur News: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में आने वाले कुछ दिनों में मानसून (Monsoon 2021) की दस्तक होने वाली है. इससे पहले तैयारियों को लेकर भी अलग-अलग दावे किए जा रहे है. रायपुर नगर निगम ने अपनी कागजी रणनीति जरूर बना ली है, लेकिन जमीनी स्तर पर अब भी काम अधूरे हैं.

  • Share this:

रायपुर. छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर (Raipur) में हर साल मानसून (Monsoon 2021) से पहले तैयारियों को लेकर बड़े-बड़े दावे किए जाते हैं और एक ही बारिश में इन दावों की पोल खुल जाती है. निचली बस्तियों में बारिश का पानी भरता ही है, लेकिन हर साल कोई नया इलाका जलभराव की चपेट में आ जाता है. इसका कारण आपदा प्रबंधन की आधी-अधूरी तैयारी है. व्यवस्था दुरुस्त रखने के लिए कई करोड़ खर्च किए जाते हैं लेकिन बारिश का पानी इन तमाम व्यवस्थाओं पर पानी फेर देता है. राजधानी के आधा दर्जन वार्डों में फिर एक बार जलभरवा का खतरा है. जहां या तो नाले बने नहीं या उनकी मरम्मत नहीं हुई या फिर अब तक नालों की सफाई ही नहीं की गई है. भाठागांव से कुशालपुर जाने वाले नाले का भी यही हाल है जिसका निर्माण पूरा ना होने से जलभराव का खतरा बढ़ रहा है.

शहर जब पनी में डूबता है तो आरोप-प्रत्यारोप भी शुरू हो जाते हैं. लेकिन रायपुर नगर निगम की नेता प्रतिपक्ष मीनल चौबे का कहना है कि नगर निगम की लचर व्यवस्था के चलते हर साल जलभराव की स्थिति होती है और इस साल भी मानसून में यही हाल होगा.

नगर निगम का दावा

इधर, महापौर एजाज ढेबर का कहना है कि ज्यादातर जगहों पर काम जारी है और जल्द ही पूरा हो जाएगा .वहीं ये भी दावा किया है कि इस साल सभी नालों की सफाई बेहतर हुई है. हालांकि महापौर का ये भी कहना है अगर ज्यादा बारिश होती है तो कई जगहों पर जलभराव हो सकता है.
जब महापौर ही ये कह रहे है कि ज्यादा बारिश होने पर कई जगहों में जलभराव की नौबत आ सकती है तब ये समझ लिजिए कि आपको खुद के लिए तैयार रहना है, क्योंकि मानसून से पहले तैयारियां तो बहुत चलती है लेकिन कागजी रणनीति को जमीन पर उतरते देर हो जाती है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज