रायपुर: रेलवे के इंजीनियरों ने तैयार किया रोबोट, खास तकनीक से कोच को करेगा सैनिटाइज
Raipur News in Hindi

रायपुर: रेलवे के इंजीनियरों ने तैयार किया रोबोट, खास तकनीक से कोच को करेगा सैनिटाइज
रेलवे के इंंजीनियरों ने रोबोट तैयार किया है. (Demo Pic)

रायपुर रेल मंडल के सीनियर पब्लिसिटी इंस्पेक्टर शिव प्रसाद ने बताया कि सीनियर सीडीओ कोचिंग सेंटर राम नारायण साहू ने इस रोबोट को तैयार किया है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
रायपुर. रायपुर (Railway) में ट्रेनों का सैनिटाइजेशन अब रोबोट (Sanitation Robot) से किया जाएगा. रायपुर मंडल के इंजीनियरों ने कोच अल्ट्रावायलेट सैनिटाइजेशन रोबोट तैयार किया है. कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए ये रोबोट ट्रेनों के कोच तक पहुंचकर उन्हें सैनिटाइज करेगा. इसका उपयोग रेलवे कोच के अलावा ऐसी जगहें पर होगा जहां संक्रमण का खतरा ज्यादा हो सकता है. रायपुर रेल मंडल (Raipur Railway) के सीनियर पब्लिसिटी इंस्पेक्टर शिव प्रसाद ने बताया कि कोचिंग सेंटर के सीनियर सीडीओ राम नारायण साहू ने इस रोबोट को तैयार किया है.

ऐसे करेगा सैनिटाइजेशन

सीनियर पब्लिसिटी इंस्पेक्टर शिव प्रसाद ने बताया कि दूर से संचालित अल्ट्रावायलेट सैनिटाइजेशन रोबोट कोच में प्रवेश किए बिना कोच को सैनिटाइज करेगा. उन्होंने कहा कि रोबोट रिमोट के जरिए ऑपरेट होगा. कोच को सैनिटाइज करने के लिए यूवी-सी किरणों का इस्तेमाल किया जाएगा. रिमोट से यूवी लाइट को कंट्रोल किया जाएगा. रिमोट कैमरे से सैनिटाइजर मूवमेंट को देखा जा सकता है. यह कोच के सैनिटाइज करने में काफी मददगार साबित होगा.



रेलवे ने ये रोबोट तैयार किया है.




शिव प्रसाद के मुताबिक यह एक गैर-रासायनिक आधारित तकनीक है, इससे संदूषण नहीं होगा. यूवी-सी किरण रोग जनकों और वायरस को मारने में प्रभावी है. यह क्लीनिंग टीम की सुरक्षा को बनाए रखने में मदद करेगा. कोच में सैनिटाइज करने के लिए स्टाफ को अब हाथ से सफाई की जरूरत नहीं है न कोई सीधे संपर्क की जरूरत होगी. इस रोबोट के जरिए आसानी से अब सैनिटाइजेशन किया जा सकेगा. बता दें कि इससे पहले रायपुर रेल मंडल के इंजीनियरों ने ही ऑटोमेटिक हैंडवॉश डिस्पेंसर मशीन तैयार किया था. यह ऑटोमेटिक हैंड सैनिटाइजिंग डिस्पेंसर मशीन फोटो डायोड सेंसर की सिद्धांत पर कार्य करती है जिसमें जब कोई ऑब्जेक्ट डायोड की रेंज में आता है तो डायोड से लगा परिपथ स्विच ऑन हो जाता है. परिपथ में लगा सबमर्सिबल पंप ऑपरेट होकर टैंक में रखे सैनिटाइजर को पाइप तथा नोजल के द्वारा ऑब्जेक्ट पर स्प्रे कर देता है और वो सैनिटाइज हो जाता है.

ये भी पढ़ें: 

COVID-19 Update: बलौदाबाजार, जगदलपुर और बिलासपुर से नए मामले, एक्टिव केस हुए 286 

रायपुर: 50 दिनों बाद दौड़ेगी ऑटो-टैक्सी, सरकार ने यात्रियों के लिए तय किए ये सख्त नियम 
First published: May 28, 2020, 1:04 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading