Lockdown Effect: छत्तीसगढ़ में रेलवे को करना पड़ा 4.48 करोड़ रुपए से ज्यादा का रिफंड
Raipur News in Hindi

Lockdown Effect: छत्तीसगढ़ में रेलवे को करना पड़ा 4.48 करोड़ रुपए से ज्यादा का रिफंड
छत्तीसगढ़ में रेलवे को करना पड़ा 4 करोड़ 48 लाख रुपए से ज्यादा का रिफंड (फाइल फोटो)

SECR रायपुर रेल मंडल ने आरक्षित टिकट काउंटर से 22 से 31 मई तक चार करोड़ 48 लाख 85 हजार 475 रुपये का रिफंड (Refund) किया है. जबकि सात लाख 70 हजार 35 रुपये की टिकटें बुक की गईं

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के रायपुर रेल मंडल में बीते 22 मई से आरक्षण केंद्र खुल चुके हैं. लेकिन आरक्षण केंद्र शुरू होते ही टिकटों की बुकिंग कम और लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान रद्द की गई ट्रेनों के पैसे रेलवे को ज्यादा रिफंड (Railway Refund) करने पड़े हैं, इससे रेलवे को राजस्व का बड़ा नुकसान हुआ है. SECR रायपुर रेल मंडल ने आरक्षित टिकट काउंटर से 22 से 31 मई तक चार करोड़ 48 लाख 85 हजार 475 रुपये का रिफंड (Refund) किया है. जबकि सात लाख 70 हजार 35 रुपये की टिकटें बुक की गईं.

बता दें कि रेलवे ने एक जून से देश भर में 200 ट्रेनों का परिचालन शुरू किया है, जिसमें रायपुर रेल मंडल से तीन गाड़ियां रायगढ़-गोंदिया-रायगढ़ जनशताब्दी एक्सप्रेस, मुंबई-हावड़ा मेल और हावड़ा-अहमदाबाद एक्सप्रेस चल रही हैं. वहीं बीते 12 मई से बिलासपुर-नई दिल्ली-बिलासपुर राजधानी एक्सप्रेस चल रही है. यह सभी गाड़ियां पूरी तरह आरक्षित हैं. इन ट्रेनों में एसी और स्लीपर कोच हैं. जरनल डिब्बे में बैठने के लिए भी आरक्षण हो रहा है. जनरल कोच के लिए सेकंड सिटिंग का आरक्षण किया जा रहा है.

इसी कड़ी में यात्रियों की सुविधा के लिए रायपुर रेल मंडल के स्टेशनों पर आरक्षण केंद्रों के आरक्षित टिकट काउंटर 22 मई से शुरू कर दिये गये हैं. रायपुर रेल मंडल में रायपुर, भिलाई पावर हाउस, कुम्हारी, दुर्ग, भिलाई, मंदिर हसौद, तिल्दा नेवरा, भाटापारा, हथबंद, बिल्हा, बालोद, दल्लीराजहरा, गुंडरदेही भानुप्रतापपुर, राजिम और धमतरी रेलवे स्टेशनों के आरक्षण केंद्रों इन सात दिनों के भीतर आरक्षित टिकट बुकिंग 1223 हुई, जिससे रेलवे को 7,70,035 रुपये का राजस्व मिला. इस दौरान 67,375 टिकट रद्द किए गए जिसमें रेलवे ने यात्रियों को 4,48,85,475 रुपए का रिफंड किया.



कहां कितना दिया गया रिफंड



रायपुर रेलवे स्टेशन से 22 मई से 31 मई तक आरक्षित टिकट बुकिंग 271 हुई जिससे 2,47,745 राजस्व मिला और 24889 टिकट रद्द किए गए. रेलवे ने यात्रियों को 1,79,94,710 रुपए का रिफंड किया. दुर्ग स्टेशन से इन सात दिनों में 513 टिकटों की बुकिंग हुई जिससे 12,728 राजस्व मिला और 14202 टिकट रद्द किए गए. रेलवे ने यात्रियों को 92,22,980 रुपए का रिफंड किया. भिलाई पावरहाउस स्टेशन से 22 मई से 31 मई को 91 आरक्षित टिकट बुक हुई, जिससे 90,575 राजस्व मिला और 13077 टिकट रद्द किए गए रेलवे ने यात्रियों को 72,84,515 रुपए का रिफंड किया. भाटापारा स्टेशन में भी आरक्षित टिकटों की संख्या 88 रही, जिससे रेलवे को 33,565 रुपये का राजस्व मिला और 1719 टिकट रद्द किए गए. रेलवे ने यात्रियों को 12,24,555 रुपए का रिफंड किया. सभी आरक्षण केंद्रों में भीड़ ज्यादातर रिफंड लेने वालों की लगी है जबकि यात्रा करने वालों की संख्या बेहद कम है.

ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़: 16 जिलों के ये इलाके बने रेड जोन, 38 ब्लॉक ऑरेंज तो 126 कंटेनमेंट जोन तय
First published: June 2, 2020, 8:27 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading