• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • कोरोना से जंग के बीच ​पीलिया ने बढ़ाई चिंता, रायपुर में 700 से ज्यादा मरीज

कोरोना से जंग के बीच ​पीलिया ने बढ़ाई चिंता, रायपुर में 700 से ज्यादा मरीज

पीलिया से बचाने के लिए टैंकर से पानी की सप्लाई की जा रही है.

पीलिया से बचाने के लिए टैंकर से पानी की सप्लाई की जा रही है.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में कोरोना वायरस (Corona Virus) से जंग के बीच राजधानी रायपुर (Raipur) में पीलिया को लेकर स्थिति चिंताजनक हो रही है.

  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में कोरोना वायरस (Corona Virus) से जंग के बीच राजधानी रायपुर (Raipur) में पीलिया को लेकर स्थिति चिंताजनक हो रही है. रायपुर में अब तक पीलिया के मरीजों की संख्या 722 हो चुकी है. वहीं दो लोगों की मौत हो चुकी है. देश भर में कोरोना कोविड 19 को लेकर जो स्थिति है उसमें छत्तीसगढ़ की स्थिति बेहतर होने का दावा किया जा रहा है. यहां से लगातार मरीज ठीक हो रहे हैं. जबकि कोविड 19 एक तरह से अनजान बीमारी है. जिसका इलाज केवल अभी लक्षणों के आधार पर किया जा रहा है.

पीलिया राजधानी रायपुर के लिए कोई अनजान बीमारी नहीं है. कमोबेश हर साल गर्मी और बारिश में शहर में इससे सामना होता ही है. उसके बाद भी रोज मरीज बढ़ रहे हैं. पीलिया के जहां जहां मरीज मिल रहे हैं, वहां पाइप लाइन बदलने का काम तो किया ही जा रहा है, लेकिन नए इलाकों में मिल रहे मरीज चिंता का विषय है. रायपुर में सरकार द्वारा पेश आंकड़ों के मुताबिक 6 मई की शाम तक 18 हजार 767 घरों का परिक्षण किया गया. 2843 लोगों का रक्त परीक्षण किया गया. पानी की सफाई के लिए 68626 क्लोरीन टेबलेट बांटने का दावा किया गया है. 2843 व्यक्तियों के परीक्षण में 512 में हैपेटाइटिस वायरस के मरीज पाए गए.

पानी से परेशानी
वरिष्ठ पेट रोग विशेषज्ञ डॉ संदीप पांडेय का कहना है कि शहर में पीलिया दूषित पानी एक बड़ी वजह है. जिस तरह से मरीजों की संख्या 722 हो गई है तो लोगों को बहुत सतर्कता बरतनी चाहिए. पानी उबाल के  ही पीयें. ये जरूर है कि लोग लॉक डाऊन के चलते बाहर का कुछ खा पी नहीं रहे हैं. इससे स्थिति और खराब नहीं हुई. नहीं तो मरीज और भी बढ़ते. लोग बाहर का खाना नहीं खा रहे. गुपचुप, गन्ना रस वगैरह  पानी बेसिक सोर्स है और बाहर इन चीजों के जरिये उन लोगों तक भी पहुंचता है, जिनके इलाके में पानी साफ आ रहा है. उनका कहना है कि उनके पास रोज चार से पांच मरीज आ रहे हैं, जिनमे कुछ तो जिनको प्राथमिक लक्षण दिखते हैं.

ये भी पढ़ें:
सड़क पर अचानक हुई पैसों की 'बारिश', हवा में उड़ते दिखे ₹200-500 के नोट

शिकारियों को पकड़ने गई वन विभाग की टीम पर हमला, खतरे में अचानकमार के टाइगर

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज