Home /News /chhattisgarh /

Jhiram Ghati Naxal Attack: जांच आयोग ने गवर्नर अनुसुइया उइके को सौंपी 4184 पेज की रिपोर्ट

Jhiram Ghati Naxal Attack: जांच आयोग ने गवर्नर अनुसुइया उइके को सौंपी 4184 पेज की रिपोर्ट

jhiram ghati kand: राज्यपाल अनुसुइया उइके को जांच आयोग ने सौंपी रिपोर्ट.

jhiram ghati kand: राज्यपाल अनुसुइया उइके को जांच आयोग ने सौंपी रिपोर्ट.

Jhiram ghati kand:  जांच आयोग (Jhiram Naxal Attack) के सचिव और HC के न्यायिक रजिस्ट्रार संतोष कुमार तिवारी ने शनिवार को राज्यपाल अनुसुइया उइके से मुलाकात कर 10 वॉल्यूम और 4184 पेज का रिपोर्ट सौंपा है. 2013 को जस्टिस प्रशांत कुमार मिश्रा की अध्यक्षता जांच आयोग का गठन किया गया था. 

अधिक पढ़ें ...

    रायपुर- झीरम घाटी नक्सल हमले (Jhiram Naxal Attack) की रिपोर्ट शनिवार को जांच आयोग ने राज्यपाल अनुसुइया उइके को सौंपी. जांच आयोग ने 10 वॉल्यूम और 4184 पेज का रिपोर्ट गवर्न को सौंपा है. जांच आयोग के सचिव और HC के न्यायिक रजिस्ट्रार संतोष कुमार तिवारी राज्यपाल अनुसुइया उइके (Governor Anusuiya Uikey) से मुलाकात कर रिपोर्ट दी है. गौरतलब हो कि 25 मई 2013 को झीरम में कई बड़े कांग्रेसी नेता माओवादी के हाथों शहीद हो गए थे. 28 मई 2013 को जस्टिस प्रशांत कुमार मिश्रा की अध्यक्षता जांच आयोग का गठन किया गया था.

    25 मई 2013 को दिग्गज कांग्रेस नेता परिवर्तन यात्रा के काफिले को लेकर सुकमा से लौट रहे थे. उस दौरान एक बड़े घटनाक्रम को अंजाम देने के लिए बड़ी संख्या में माओवादी झीरम घाटी में घात लगाकर बैठे थे. जैसे ही कांग्रेस का काफिला दरभा के झीरम घाटी में पहुंचा उसी दौरान माओवादियों ने हमला कर दिया. इस हमले में सुरक्षा जवान और आम लोग सहित करीब 32 लोगों को मौत हो गई थी.

    साल 2013 में नक्सलियों ने खेला था खूनी खेल

    गौरतलब हो कि साल 2013 में छत्तीसगढ़ में विधानसभा के चुनाव होने थे. इसे के मद्देनजर कांग्रेस ने पूरे राज्य में परिवर्तन यात्रा निकालने की तैयारी की, जिसकी शुरुआत 25 मई के दिन सुकमा से की गई थी. बताया जाता है कि सुकमा में रैली खत्म होने के बाद कांग्रेस नेताओं का काफिला सुकमा से जगदलपुर लौट रहा था. काफिले में करीब 25 गाड़ियां थी. नंदकुमार पटेल, उनके बेटे दिनेश पटेल, कवासी लखमा, महेंद्र कर्मा, उदय मुदलियार सहित कांग्रेस के दिग्गज नेता इस काफिले में शामिल थे.

    ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में भी सस्ता हो सकता है पेट्रोल-डीजल, VAT घटाने पर मंत्री टीएस सिंहदेव ने दिया बड़ा बयान

    जानकारी के मुताबिक, कांग्रे नेताओं का काफिला झीरम घाटी से गुजर रहा था. इस दौरान नक्सलियों ने रास्ता बंद कर दिया. फिर घात लगाए बैठे नक्सलियों ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी. नंदकुमार पटेल और उनके बेटे दिनेश, बस्तर टाइगर महेंद्र कर्मा शहीद हो गए थे. इस घटना में पूर्व केंद्रीय मंत्री विद्याचरण शुक्ल गंभीर रूप से घायल हुए थे, जिनका बाद में इलाज के दौरान निधन हो गया था.

    Tags: Chhattisgarh Congress, Chhattisgarh news, Jhiram Valley Naxalite attack, Raipur news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर