• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • जानिए उस मामले के बारे में जिससे नंदिनी सुंदर व अन्य को 'छत्तीसगढ़ सरकार' ने किया 'बरी'

जानिए उस मामले के बारे में जिससे नंदिनी सुंदर व अन्य को 'छत्तीसगढ़ सरकार' ने किया 'बरी'

प्रो. नंदिनी सुंदर.

प्रो. नंदिनी सुंदर.

छत्तीसगढ़ के घोर माओवाद प्रभावित सुकमा जिले के तोंगापाल पुलिस थाने में 4 नवंबर 2016 को हत्या का एक मामला दर्ज किया गया.

  • Share this:
    छत्तीसगढ़ के घोर माओवाद प्रभावित सुकमा जिले के तोंगापाल पुलिस थाने में 4 नवंबर 2016 को हत्या का एक मामला दर्ज किया गया. थाना क्षेत्र के नामापारा गांव के सोमनाथ बघेल की अज्ञात माओवादियों ने हत्या कर दी थी. मामले में पुलिस ने जांच शुरू की और कई ग्रामीणों को गवाह बनाया. पुलिस ने ग्रामीणों के बयान को आधार कर मामले में अज्ञात माओवादियों के अलावा दिल्ली यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर डॉ. नंदिनी सुंदर, जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी की प्रो. अर्चना प्रसाद सहित अन्य को भी आरोपी बनाया.

    घटना के दो साल बाद मामला फिर चर्चा में है. क्योंकि सुकमा पुलिस ने हत्या के इस मामले में प्रो. नंदिनी सुंदर, प्रो. अर्चना प्रसाद, संजय पराते सहित अन्य को क्लीन चिट दे दी है. पुलिस द्वारा तैयार चालान में इन आरोपियों का नाम हटा दिया गया है. सुकमा एसपी जितेन्द्र शुक्ला ने बताया कि जांच के दौरान उक्त आरोपियों के खिलाफ सबूत नहीं मिलने पर इनका नाम चालान से काट दिया गया है.

    इस आधार पर दर्ज हुआ था मामला
    ग्रामीण सोमनाथ बघेल की हत्या मामले में पुलिस ने नंदिनी सुंदर, अर्चना प्रसाद व अन्य के खिलाफ भादवि की धारा 302, 120 बी, 147, 148, 149, 352 तथा 25, 27 आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया. यह मामला कथित तौर से मृतक की विधवा विमला बघेल की लिखित शिकायत के आधार पर कायम किया गया था. नंदिनी सुंदर की मानें तो इस शिकायत में उनपर पर सीधा दोषारोपण नहीं था.

    पुलिस की रिपोर्ट के मुताबिक ग्रामीणों ने जांच के दौरान बताया कि हत्यारों ने कहा कि दिल्ली से आई टीम की बातों को मृतक ने तवज्जो नहीं दिया. इसलिए उसे मारा जा रहा है. हालांकि हत्यारों ने ये नहीं कहा था कि दिल्ली से आई टीम के लिए वो काम करते हैं. बता दें कि नंदिनी सुंदर सहित अन्य नामापारा सहित अन्य गांवों में अध्ययन के लिए गई थी. इस दौरे के दौरान ही उनपर माओवादियों का साथ देने का आरोप लगा था.

    ये भी पढ़ें: डीयू की प्रोफेसर नंदिनी सुंदर को सुकमा पुलिस की क्लीन चिट, कहा- फर्जी केस खत्म हुआ  

    ये भी पढ़ें: लोकसभा की टिकट के लिए छत्तीसगढ़ कांग्रेस में घमासान, इस नीति का विरोध कर रहे नेता 
    ये भी पढ़ें: जानिए बस्तर की इस अनोखी कला के कायल क्यों हैं टेक्सटाइल से जुड़े कलाकार 
    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज