होम /न्यूज /छत्तीसगढ़ /Leopard Attack: मनेन्द्रगढ़ में आदमखोर तेंदुए ने किसान को बनाया शिकार, 1 महीने में तीसरी मौत

Leopard Attack: मनेन्द्रगढ़ में आदमखोर तेंदुए ने किसान को बनाया शिकार, 1 महीने में तीसरी मौत

तेंदुए के हमले में किसान की मौत हो गई है.

तेंदुए के हमले में किसान की मौत हो गई है.

Leopard Attack: तेंदुए को पकड़ने के लिये पिंजरे और कैमरे भी जंगल मे लगाए गए है. चंद्रमणि तिवारी रेंजर जनकपुर वन परिक्षे ...अधिक पढ़ें

सुजीत शाह

मनेन्द्रगढ़. छत्तीसगढ़ में तेंदुआ का आतंक (Leopard Terror) थमने का नाम नहीं ले रहा है. रविवार की देर शाम भरतपुर विकासखंड में आदमखोर तेंदुए ने ग्राम कुंवारी में एक बार फिर से एक व्यक्ति को अपना शिकार बना लिया. रामबदन बैगा नामक किसान अपने अरहर के खेत से वापस घर आ रहा था, उसी दौरान तेंदुए ने हमला कर दिया जिससे उसकी मौत हो गई. घटना की जानकारी मिलने के बाद मौके पर वन और पुलिस विभाग की टीम और ग्रामीण पहुंच गए.

मनेंद्रगढ़ वनमंडल के  जनकपुर और कुँवारपुर वनपरिक्षेत्र  में तेंदुए के हमले से एक महीने में तीसरी मौत हो गई है. इससे इलाके में दहशत का माहौल है.

घटना की जानकारी मिलने के बाद इलाके के विधायक गुलाब कमरो भी जनकपुर पहुँचे और मृतक के परिजनों को संवेदना दी. साथ ही मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के अलावा वन विभाग के सचिव मनोज पिंगुआ से भी बात कर ठोस हल निकालने को लेकर चर्चा की. इसके पहले, तेंदुए के हमले से 11 दिसंबर को कुंवारपुर रेंज के गौधोरा में  बुजुर्ग महिला फुलझरिया की मौत हो चुकी है. उसके बाद 23 दिसंबर को छपराटोला में रहने वाले 8 वर्षीय सुरेश भी तेंदुए के हमले में गंभीर घायल हो गया था. तीन जनवरी को उमा बाई बैगा के ऊपर हमला करने से मौत हो गई थी.

इस मामले में वन विभाग के अधिकारी का कहना है कि लगातार लोगो को तेंदुए से सावधान करने के लिए जहाँ मुनादी भी की जा रही है. वहीं, तेंदुए को पकड़ने के लिये पिंजरे और कैमरे भी जंगल मे लगाए गए है. चंद्रमणि तिवारी रेंजर जनकपुर वन परिक्षेत्र  ने बताया कि जल्द ही तेंदुए को पकड़ लिया जाएगा. तब तक लोग बेवजह घर से बाहर ना निकलें.

Tags: Farmer injured by leopard attack, Leopard attack

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें