लोकसभा चुनाव 2019: राफेल और राष्ट्रवाद पर भारी है छत्तीसगढ़ में '​छोटा आदमी' और 'आइना'

लोकसभा चुनाव 2019 में चुनाव प्रचार अपने चरम पर है. राजनीतिक दल अलग अलग मुद्दों पर एक दूसरे पर निशाना लगाकर मतदाताओं को साधने की कोशिश कर रहे हैं.

News18 Chhattisgarh
Updated: April 19, 2019, 3:41 PM IST
लोकसभा चुनाव 2019: राफेल और राष्ट्रवाद पर भारी है छत्तीसगढ़ में '​छोटा आदमी' और 'आइना'
Demo Pic.
News18 Chhattisgarh
Updated: April 19, 2019, 3:41 PM IST
लोकसभा चुनाव 2019 में चुनाव प्रचार अपने चरम पर है. राजनीतिक दल अलग अलग मुद्दों पर एक दूसरे पर निशाना लगाकर मतदाताओं को साधने की कोशिश कर रहे हैं. चुनावी प्रचार में आरोप प्रत्यारोप का दौर है और इसके लिए राजनीतिक दल और नेताओं ने कुछ मुद्दों का भी चयन कर लिया है, जिसको लेकर पूरे देश में अपनी पार्टी के पक्ष में माहौल बनाने की कोशिश की जा रही है.

लोकसभा चुनाव के लिए देश में राफेल और चौकीदार चोर है को कांग्रेस बड़ा मुद्दा बनाकर बीजेपी को घेरने की कोशिश कर रही है. चौकीदार चोर है के जवाब में बीजेपी ने मैं भी चौकीदार का अभियान चलाकर कांग्रेस पर पलटवार किया है, लेकिन छत्तीसगढ़ में सियासी लड़ाई आइना और छोटे आदमी के बीच सिमट गई है. पहले कांग्रेसेसियों ने बीजेपी नेताओं को आइना भेजकर निशाना साधा. इसके बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ पूरी कांग्रेस सोशल मीडिया के साथ-साथ चुनाव मैदान में भी छोटा आदमी बनकर बड़े वोटबैंक को साधने में जुटी है. इसके जवाब में भाजपा ने अब चाय, पकौड़े, सेलून वालों से लेकर कॉलोनी, अपार्टमेंट और कॉम्पलेक्स के सामने बैठे चौकीदारों से संपर्क कर रही है. वैसे राज्य सरकार ने अपने तीन महीने में जो काम किए हैं, उन्हें लेकर भी कांग्रेस वोटरों को लुभाने की कोशिश कर रही है.



चुनावी हलचल शुरू होने के बाद बदलापुर पर भी बहस छिड़ गई है. ताजा मामला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भारत रत्न अटलबिहारी वाजपेयी और पं. दीनदयाल उपाध्याय की अधजली तस्वीरें कचरे में मिलने को लेकर है. इसमें पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने बदलापुर की राजनीति का आरोप लगाया था. इस पर कांग्रेस ने यहां तक कह दिया था कि बदलापुर की राजनीति करवाते तो अब तक बंगला खाली करवा देते.

विधानसभा चुनाव 2018 के दौरान कांग्रेस ने घोषणा पत्र में बिजली बिल हाफ करने का वादा किया था. सरकार ने 400 यूनिट तक बिजली बिल हाफ करने का ऐलान किया. अब भाजपा का आरोप है कि बिजली बिल हाफ करने के बजाय सरकार बिजली सप्लाई हाफ कर दी है. बिजली बंद होने की शिकायत बढ़ गई है. गांव के साथ-साथ कस्बों में भी बिजली बंद होने की शिकायतें आ रही हैं.

चुनावी समर में प्रदेश कांग्रेस ने प्रधानमंत्री को आइना भेजा था. इसके साथ ही एक वीडियो भी जारी किया था, जिसमें मोदी जी जरा सामने आओ, अपना सच सबको दिखलाओ, देखो कैसे एक ‘आइना’ सच दर्शाए जी... गाने के बोल थेत्र इस पर मीडिया से चर्चा में पूर्व मुख्यमंत्री ने छोटे मन से छोटी-छोटी हरकतें करने का बयान दिया था. पूर्व मुख्यमंत्री के वीडियो के साथ मुख्यमंत्री बघेल ने ट्वीट किया था कि ‘हां! मैं छोटा आदमी हूं.’ इसके बाद यह अभियान शुरू हो गया. महज कुछ घंटों में ही 50 हजार से ज्यादा कांग्रेस नेता व समर्थकों ने सोशल मीडिया पर अपने नाम के आगे छोटा आदमी लिखा था. इसका डैमेज कंट्रोल करने के लिए भाजपा ने फिर कामगारों से जनसंपर्क शुरू किया था.
ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़: बीजेपी-कांग्रेस की लड़ाई में जीता लोकतंत्र, तीन सीट पर 71% वोटिंग 
ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में साहू समाज को साधने पीएम नरेन्द्र मोदी ने खेला ये 'मास्टर स्ट्रोक' 
Loading...

ये भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019: छत्तीसगढ़ में प्रचार के रण से क्यों गायब हैं राहुल-प्रियंका गांधी? 
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार