लाइव टीवी

छत्‍तीसगढ़: कांग्रेस के मिशन-11 को झटका, 'गुप्त सर्वे' में 5 सीटों पर पिछड़ सकते हैं प्रत्याशी

Awadhesh Mishra | News18 Chhattisgarh
Updated: April 4, 2019, 5:56 PM IST
छत्‍तीसगढ़: कांग्रेस के मिशन-11 को झटका, 'गुप्त सर्वे' में 5 सीटों पर पिछड़ सकते हैं प्रत्याशी
प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

लोकसभा चुनाव की तैयारियों के तहत छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के मिशन 11 को उस वक्त झटका लगा जब आंतरिक सर्वे में पार्टी 11 में से 5 सीटों पर पिछड़ती नजर आई.

  • Share this:
लोकसभा चुनाव की तैयारियों के तहत छत्तीसगढ़ कांग्रेस के मिशन 11 को उस वक्त झटका लगा जब आंतरिक सर्वे में पार्टी 11 में से 5 सीटों पर पिछड़ती नजर आई. छत्तीसगढ़ राज्य गठन के बाद अब तक हुए कुल तीन लोकसभा चुनावों में तीनों ही बार कांग्रेस 11 में से महज 1 सीट जितने में कामयाब रही है. वर्ष 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में मिली बंपर जीत के बाद कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के लिए मिशन 11 तय किया है, लेकिन इस मिशन को बड़ा झटका लग सकता है.

सूत्रों के मुताबिक, एक गुप्त सर्वे में कांग्रेस जांजगीर-चाम्पा, बिलासपुर, रायपुर, महासमुंद सहित दुर्ग लोकसभा सीट पर पीछे चल रही है. इससे आला नेताओं की धड़कनें तेज हो गई हैं. दरअसल, कांग्रेस ने जो जातिगत कार्ड खेला है, वह इन सीटों पर सटीक बैठता दिखाई नहीं दे रहा है. मसलन बात अगर दुर्ग लोकसभा की करें तो करीब 19 लाख मतदाताओं वाले इस सीट पर साढ़े पांच लाख के करीब साहू वोटर हैं जो करीब 29 फीसदी होते हैं. लेकिन, कांग्रेस ने यहां से कुर्मी प्रत्याशी को मैदान में उतारा है. वहीं, बीजेपी ने भी कुर्मी प्रत्याशी मैदान में उताकर कर मामला उलझा दिया है. जातिगत समीकरण के कारण अन्य चार सीटों पर भी कांग्रेस उलझती जा रही है.

प्रदेश में भले ही कांग्रेस मिशन 11 लेकर चल रही हो, लेकिन गुप्त सर्वे और समीकरण यह बताने के लिए काफी हैं कि कांग्रेस पांच सीटों पर बेहतर स्थिति में दिखाई नहीं दे रही है. यह बात अलग है कि कांग्रेस प्रवक्ता इसे सामान्य सर्वे करार दे रहे हैं. कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी का कहना है कि कुछ सीटों पर आगे या ​पीछे रहने का सर्वे आता रहता है, लेकिन इस बार प्रदेश की सभी 11 सीटों पर कांग्रेस को जीत मिलेगी. वहीं, दूसरी ओर भाजपा प्रवक्ता केदारनाथ गुप्ता का कहना है कि न सिर्फ पांच बल्कि प्रदेश की सभी 11 सीटों पर भाजपा को जीत मिलेगी.

कांग्रेस भले ही इस रिपोर्ट को सार्वजनिक रूप से स्वीकार ना करे, लेकिन यह तो तय है कि इस रिपोर्ट के सामने आने पर कांग्रेस के भीतर खाने हलचल मच गई है. प्रभारी नेता से लेकर प्रभारी मंत्री तक तो समीकरण साधने के निर्देश दिए गए हैं.

ये भी पढ़ें: कांकेर में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में BSF के 4 जवान शहीद, दो घायल
ये भी पढ़ें: सीएम भूपेश बघेल का ट्वीट- जिनका दामाद है कई दिनों से फरार, बताओ कौन है वो ऐसा 'चौकीदार'? 
ये भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019: कांग्रेस के वादे ‘अप्रैल फूल’ की तरह- केदार कश्यप  
Loading...

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स  

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 4, 2019, 5:13 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...