लाइव टीवी

वो नहीं बनना चाहती थी बिन ब्याही मां इसलिए...
Raipur News in Hindi

Om Jaisawal | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: July 29, 2016, 12:10 PM IST

छत्तीसगढ़ के बलौदाबाजार जिले में बिन ब्याही मां बनने से बचने के लिए एक युवती ने अपने प्रेमी की मदद से कोख में पल रहे 4 माह के बच्चे का गर्भपात कराकर दिया. पुलिस को जब यह पता चला तो पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के बलौदाबाजार जिले में बिन ब्याही मां बनने से बचने के लिए एक युवती ने अपने प्रेमी की मदद से कोख में पल रहे 4 माह के बच्चे का गर्भपात कराकर दिया.

आरोपी प्रेमी का नाम मनोज कैवत्य (19) और उसकी प्रेमिका 18 साल की है. दोनों के बीच एक साल से अवैध संबध थे. इस बीच जब लड़की गर्भवती हो गई तो उसने यह बात अपने प्रेमी को बताई. इसके बाद दोनों ने मिलकर बच्चे को गिराने का प्लान तैयार कर लिया. इसके लिए प्रेमी ने बलौदाबाजार के किसी मेडिकल स्टोर्स से गर्भपात की दवाई लाकर लड़की को खिला दी जिसके बाद उसका गर्भपात हो गया. इसके बाद युवती ने बच्चे के भ्रूण को सरखोर की गली में फेंक दिया था.

सरखोर सरपंच मोहन बंजारे ने बताया कि गांव में पटेल डॉक्टर के क्लीनिक के पास एक बच्चे का भ्रूण पाया गया था, जिसकी सुचना उन्होंने लवन पुलिस को दी थी. वहीं डॉक्टर भागचंद पटेल के मुताबिक, पेट में दर्द की शिकायत के बाद बाजारभाठा से एक लड़की अपने माता-पिता के साथ इलाज कराने उनके पास आई थी, लेकिन कुछ ही देर में शौच जाने का बहाना बनाते हुए पानी लेकर वहां से निकल गई. शौच से लौटने के बाद लड़की पेट दर्द ठीक होने की बात कहकर अपने घर चली गई थी, जिसके दूसरे दिन गांव मे हल्ला हुआ तो पता चला कि बच्चे का भ्रूण है.

लवन पुलिस के मुताबिक, 5 जुलाई को सरखोर गांव के सरपंच ने गली में बच्चे का भ्रूण मिलने की सूचना पुलिस को दी थी. इस मामले की जांच चल रही पुलिस ने मामले को सुलझाते प्रेमी जोड़े को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं पुलिस अब इस बात का पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आखिर प्रेमी जोड़े के पास बच्चे गिराने वाली दवाई कहां से आई.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 29, 2016, 11:31 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर