• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • गांधी@150: BJP नेता धरमलाल कौशिक बोले- नाथूराम गोडसे को मुर्दाबाद कहना गाली देने के बराबर

गांधी@150: BJP नेता धरमलाल कौशिक बोले- नाथूराम गोडसे को मुर्दाबाद कहना गाली देने के बराबर

छत्तीसगढ़ में महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर सियासत गरमा गई है.

छत्तीसगढ़ में महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर सियासत गरमा गई है.

गांधी जयंती पर छत्तीसगढ़ विधानसभा (Chhattisgarh Assembly) का दो दिवसीय विशेष सत्र बुलाया गया है. सत्र के पहले दिन महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) और गोडसे को लेकर सत्‍ता पक्ष और विपक्ष में तीखी तकरार हुई.

  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की 150वीं जयंती पर सियासत गर्मा गई है. गांधी जयंती पर छत्तीसगढ़ विधानसभा (Chhattisgarh Assembly) का दो दिवसीय विशेष सत्र आयोजित किया गया है. सत्र के पहले दिन गांधी और गोडसे को लेकर पक्ष और विपक्ष में तीखी तकरार हुई. सदन में सीएम भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने कहा कि दो विचारधाराएं देश में थीं, एक का प्रतिनिधित्व गांधीजी करते थे और दूसरे का प्रतिनिधित्व नाथूराम गोडसे.

विधानसभा में सीएम भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने कहा कि गांधीजी की जय-जयकार होती है तो गोडसे के विचारधारा की भर्त्सना भी होनी चाहिए. गोडसे का 'मुर्दाबाद' होना चाहिए. इस पर बीजेपी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने जवाब दिया. बीजेपी नेता ने कहा, 'नाथूराम गोडसे को मुर्दाबाद कहना गाली देने के बराबर है. गांधीजी कभी भी हिंसा का रास्ता नहीं बताते थे. राज्य सरकार हमें आखिर किस ओर ले जा रही है.'

chhattisgarh, BJP
धरमलाल कौशिक ने कहा कि गांधीजी कभी भी हिंसा का रास्ता नहीं बताते थे.


पूर्ण शराबबंदी की मांग
विधानसभा के विशेष सत्र के पहले दिन नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने गांधी जयंती पर प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी का ऐलान करने की मांग की. धरमलाल कौशिक जब बोल रहे थे तभी पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह अपनी सीट के उठकर सदन से बाहर चले गए तो कांग्रेस सदस्य अमितेश शुक्ला ने इस पर टिप्‍पणी की. उन्‍होंने कहा कि कौशिक जी का भाषण ऐसा है कि रमन सिंह बाहर चले गए. इसके बाद भाजपा के सदस्यों ने उनकी खिंचाई की और पलटवार करते हुए कहा कि आपको मंत्री नहीं बनाया तो आप असहयोग आंदोलन चला रहे हैं. आपको तो गांधी प्रतिमा के सामने अनशन में बैठ जाना चाहिए. बता दें कि अमितेश शुक्ल ने विशेष सत्र के लिए तय यूनिफार्म कोसा का कूर्ता पैजामा की जगह दूसरी ड्रेस पहनकर विधानसभा पहुंचे. इस पर भी बीजेपी ने खिंचाई की.

ये भी पढ़ें: महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर 5 नई योजनाएं शुरू करेगी भूपेश सरकार 

महात्मा गांधी ने छत्तीसगढ़ में यहां शुरू की थी छुआछूत के खिलाफ जंग!

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज