नक्सली हमलों के बीच बस्तर में मतदान कराना प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती

बस्तर में लगातार हो रहे नक्सली हमलों के बीच पुलिस और प्रशासन दोनों के लिए यहां मतदान कराना एक बड़ी चुनौती बन गई है.

Raghwendra Sahu | News18 Chhattisgarh
Updated: November 9, 2018, 12:11 PM IST
नक्सली हमलों के बीच बस्तर में मतदान कराना प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती
नक्सली हमलों के बीच बस्तर में मतदान कराना प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती
Raghwendra Sahu
Raghwendra Sahu | News18 Chhattisgarh
Updated: November 9, 2018, 12:11 PM IST
छत्तीसगढ़ के बस्तर में लगातार हो रहे नक्सली हमलों के बीच पुलिस और प्रशासन दोनों के लिए यहां मतदान कराना एक बड़ी चुनौती बन गई है. मतदान दलों से लेकर राजनीतिक दल और आम जनता तक में नक्सली वारदातों ने डर का माहौल बना दिया है.

बीते दिनों दंतेवाड़ा जिले में ही हुई 4 बड़ी घटनाओं में 8 जवान शहीद हो गए हैं. इसमें न्यूज चैनल के एक कैमरामैन की जान भी चली गई. वहीं इस हमले में 4 सिविलियन को भी अपनी जान से हाथ धोना पड़ा है. वहीं एक बीजेपी नेता पर भी जानलेवा हमला किया गया. चुनाव जितना नजदीक आ गया है, नक्सली घटनाएं उतनी ही बढ़ गई हैं.

लिहाजा, ऐसे में नक्सली दहशत कायम करने में बहुत हद तक कामयाब हो गए हैं. हालांकि प्रशासन और सुरक्षा बलों की ओर से सुरक्षित मतदान के लगातार दावे किए जा रहे हैं और आकाश नगर में हुए आईईडी ब्लास्ट और 5 लोगों के जान चले जाने के बाद भी अधिकारी रटा रटाया जवाब दे रहे हैं.

मामले में नक्सल ऑपरेशन के एसपी एसआईबी डी. रविशंकर ने कहा कि मतदान को लेकर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. आम नागरिक बेखौफ होकर मतदान कर सकेंगे.

ये भी पढ़ें:- कांग्रेस के चुनाव प्रचार दल पर नक्सली हमला, चंद घंटे में दूसरी बड़ी वारदात

छत्तीसगढ़: कांग्रेस के लिए प्रचार कर रहे हैं मोदी के हमशक्ल, कहा- नहीं आएंगे अच्छे दिन
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर