• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • रायपुर: पहली पत्नी को तलाक देकर की दूसरी शादी, फिर तीसरे बार भी बना दूल्हा, बोला- गलती हो गई

रायपुर: पहली पत्नी को तलाक देकर की दूसरी शादी, फिर तीसरे बार भी बना दूल्हा, बोला- गलती हो गई

रायपुर के शासकीय कर्मचारी पर तीन शादी करने का आरोप. (File pic)

रायपुर के शासकीय कर्मचारी पर तीन शादी करने का आरोप. (File pic)

Chhattisgarh: रायपुर (Raipur)  के एक शासकीय कर्मचारी पर तीन शादी करने का आरोप लगा है. पति की शिकायत लेकर दूसरी पत्नी महिला आयोग पहुंची थी.

  • Share this:

रायपुर. छत्तीसगढ़ महिला आयोग (Chhattisgarh Women Commission) में सुनवाई के दौरान एक ऐसे मामले का खुलासा हुआ है जिसमें एक शासकीय कर्मचारी ने एक दो नहीं बल्कि तीन शादी रचाई. पति की शिकायत लेकर खुद पत्नी महिला आयोग पहुंची थी. आवेदिका ने बताया कि पति ने अपनी पहली पत्नी से तलाक लेकर मुझसे शादी की थी. बिना मुझे तलाक दिए बगैर तीसरी शादी भी कर ली. महिला आयोग ने आरोपी पति को बुधवार को पेशी के लिए बुलाया था. जब आयोग ने पूछताछ की तो पति ने कहा,’हां मुझसे से गलती हुई है,’ आरोपी की तीसरी शादी को लगभग तीन साल हो गया है.

आरोपी पति शासकीय कर्मचारी है. आरोपी ने पत्नी से सामाजिक तलाक लिया था. अब आरोपी के खिलाफ आयोग ने विभागीय कार्रवाई की अनुशंसा भी की है. आवेदिका ने यह भी बताया कि ससुराल में जेठ जेठानी और ससुर घर से निकालने की बात कर रहे हैं. पति अपनी संपत्ति का आधा हिस्सा देने से भी मुकर रहा है. अब महिला आयोग ने महिला के ससुराल पक्ष को भी पेश होने के निर्देश दिए हैं. बुधवार को महिला आयोग में आठ मामलों का निपटारा किया गया.

आयोग में हुई 20 मामलों की सुनवाई

राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ. किरणमयी नायक एवं सदस्य अनीता रावटे, शशिकांता राठौर और अर्चना उपाध्याय की उपस्थिति में बुधवार को शास्त्री चौक स्थित, राज्य महिला आयोग कार्यालय में महिलाओं से संबंधित शिकायतों के निराकरण के लिए सुनवाई की गई. इनमें महिला आयोग के समक्ष महिला उत्पीड़न से संबंधित 20 प्रकरण सुनवाई के लिए रखे गए. इसमें 20 प्रकरणों की सुनवाई हुई. अन्य प्रकरणों में अब अगली सुनवाई होगी.

ये भी पढ़ें: Toolkit Case: संबित पात्रा और रमन सिंह को राहत, SC ने खारिज की छत्तीसगढ़ सरकार की याचिका

आयोग में एक मामले में महिला ने अपने ससुराल वालों के खिलाफ शिकायत में कहा था कि उसके पति की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है. ससुराल के लोग उसका इलाज नहीं करवा रहे. इस पर आयोग ने परिजनों को इलाज करवाने के निर्देश दिया है. इसी तरह एक प्रकरण में संपत्ति के दावे का विवाद सामने आया. इस मामले में आयोग ने एक अधिवक्ता को नियुक्त कर दिया है. अब वकील मामले में आगे की कार्रवाई करेगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज