BJP से बाहर किए जाएंगे छत्तीसगढ़ की राजनीति में भूचाल लाने वाले मंतूराम पवार

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की राजनीति में साल 2014 के बाद ​एक बार फिर से भूचाल लाने वाले मंतूराम पवार (Manturam Pawar) पर बीजेपी (BJP) कार्रवाई करने की तैयारी कर रही है.

Mamta Lanjewar | News18 Chhattisgarh
Updated: September 10, 2019, 9:35 AM IST
BJP से बाहर किए जाएंगे छत्तीसगढ़ की राजनीति में भूचाल लाने वाले मंतूराम पवार
छत्तीसगढ़ की राजनीति में साल 2014 के बाद ​एक बार फिर से भूचाल लाने वाले मंतूराम पवार पर बीजेपी कार्रवाई करने की तैयारी कर रही है. (File Photo)
Mamta Lanjewar | News18 Chhattisgarh
Updated: September 10, 2019, 9:35 AM IST
रायपुर: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की राजनीति में साल 2014 के बाद ​एक बार फिर से भूचाल लाने वाले मंतूराम पवार (Manturam Pawar) पर बीजेपी (BJP) कार्रवाई करने की तैयारी कर रही है. मंतूराम पवार को बीजेपी (BJP) पार्टी से जल्द ही बाहर निकाल सकती है. पूर्व सीएम और बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह ने ये संकेत दिए हैं. डॉ. रमन सिंह ने कहा कि जिस प्रकार का कृत्य मंतूराम ने किया है, उससे उसका बीजेपी में रहने का सवाल ही खत्म हो जाता है. प्रदेश अध्यक्ष इस पर जल्द निर्णय लेंगे.

15 सालों तक छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में के मुखिया रहने वाले डॉ. रमन सिंह (Dr. Raman Singh) अंतागढ़ टेपकांड वाले मामले में अब सबसे ज्यादा निशाने पर हैं. मंतूराम पवार ने कोर्ट को दिए लिखित बयान में पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह पर सीधे आरोप लगाए हैं. मंतूराम ने कहा कि उन्हें अंतागढ़ उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी बनाए जाने के बाद बड़े नेताओं ने संपर्क किया. इसमें पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह, अजीत जोगी, अमित जोगी के नाम भी शामिल हैं. साढ़े 7 करोड़ रुपये का लालच देकर उनकी नाम वापसी कराई गई.

Chhattisgarh, Raman singh
डॉ. रमन सिंह.


मिला दिव्य ज्ञान

मंतूराम के आरोप पर डॉ. रमन सिंह का कहना है कि कि मंतूराम पवार को दिव्य ज्ञान दिया गया. उसके बाद वो उनपर झूठा आरोप लगा रहे हैं. इसी मामले में ईडी से शिकायत पर रमन सिंह ने कहा कि जब मंतूराम खुद कह रहा है कि उसे एक रुपये भी नहीं मिला तो शिकायत कैसी? केस जो बनाया है उसकी भूमिका को ही समाप्त करने का काम कर रहे हैं. उन्होंने यह भी कहा कि मंशा साफ नजर आ रही है कि दंतेवाड़ा चुनाव में कांग्रेस के पास कोई मुद्दा नहीं है. उन्हें लगता है कि डॉ. रमन सिंह को निशाना बनाया जाए, जिससे आने वाले दिनों में कोई दिक्कत ही ना हो.

Manturam Pawar, Chhattisgarh
मंतूराम पवार.


2014 में भी मचा था भूचाल
Loading...

बता दें कि साल 2014 में कांकेर जिले के अंतागढ़ उपचुनाव में मंतूराम पवार ने सूबे की राजनीति में भूचाल मचा दिया था. कांग्रेस प्रत्याशी मंतूराम ने ऐसे वक्त अपना नाम वापस ले लिया, जब कांग्रेस कोई दूसरा प्रत्याशी खड़ा नहीं कर सकती थी. इससे एक तरह से बीजेपी को वॉकओवर मिल गया था. चुनाव के कुछ महीने बाद एक आडियो वायरल हुआ, जिसमें पैसें की लेनदेन के कारण मंतूराम के नाम वापसी का जिक्र था. इसी मामले में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद नए सिरे से जांच की जा रही है.

ये भी पढ़ें: कांग्रेस के मंत्री कवासी लखमा की नसीहत! नेता बनना है तो एसपी-कलेक्टर का कॉलर पकड़ो 

ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ BJP में क्यों गायब हो गई सेकेंड लाइन, क्या हाशिये पर हैं युवा नेता?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 10, 2019, 9:35 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...