Home /News /chhattisgarh /

अंबेडकर अस्पताल के पूर्व अधीक्षक डॉ. विवेक चौधरी पर प्रताड़ना का आरोप, महिला आयोग पहुंची मेडिकल स्टूडेंट

अंबेडकर अस्पताल के पूर्व अधीक्षक डॉ. विवेक चौधरी पर प्रताड़ना का आरोप, महिला आयोग पहुंची मेडिकल स्टूडेंट

 (सांकेतिक तस्वीर)

(सांकेतिक तस्वीर)

मेडिकल छात्रा (Medical Student) का आरोप है कि पूर्व अधीक्षक डॉ. विवेक चौधरी देर रात आपत्तिजनक मैसेज (Vulgar Message) करते थे. परेशान करने थिसीस पर साइन भी नहीं किया.

रायपुर. छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर (Raipur) के अंबेडकर अस्पताल (Ambedkar Hospital) के पूर्व अधीक्षक पर एक मेडिकल की छात्रा ने गंभीर आरोप लगाए हैं. मेडिकल स्टूडेंट का आरोप है कि डॉक्टर विवेक चौधरी (Dr. Vivek Chaudhary) रात को उसे आपत्तिजनक भेजा करते थे. परेशान करने के मकसद से उसके थिसीस पर साइन भी नहीं किया. छात्रा की मानें तो उसने इस मामले की शिकायत भी करने को कोशिश की,  लेकिन कोई सफलता नहीं मिली. अब मामला लेकर छात्रा महिला आयोग पहुंची और शिकायत दर्ज कराई. वहीं, महिला आयोग ने नोटिस जारी कर विवेक चौधरी से जवाब पेश करने कहा है. अब इस पूरे मामले में पूर्व अधीक्षक का पक्ष आना बाकी है.

दरअसल, अंबेडकर अस्पताल के पूर्व अधीक्षक और कैंसर विभाग के एचओडी डॉक्टर विवेक चौधरी के खिलाफ मेडिकल कॉलेज की छात्रा ने प्रताड़ना के आरोप लगाते हुए महिला आयोग में शिकायत दर्ज कराई है. जानकारी के मुताबिक महिला डॉक्टर का कहना है कि पूर्व अधीक्षक देर रात आपत्तिजनक मैसेज करते थे. जब अधीक्षक की बात नहीं मानी तब परेशान करने के मकसद से विवेक चौधरी ने थिसीस पर जानबूझकर हस्ताक्षर नहीं करने का आरोप छात्रा ने लगाया है. बताया जा रहा है कि पीड़ित छात्रा पहले भी शिकायत ही कोशिश कर चुकी है, लेकिन विवेक चौधरी के अंबेडकर अस्पताल के अधीक्षक रहते हुए छात्रा की कोई सुनवाई नहीं हुई.

ये भी पढ़ें: बड़ी खबर: इलाहाबाद हाईकोर्ट को मिले 4 नए जज, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने की नियुक्ति

शिकायत लेकर महिला आयोग पहुंची छात्रा

मामले में कार्रवाई नहीं हुई को पीड़िता छात्रा महिला आयोग पहुंची और शिकायत दर्ज कराई. प्रारंभिक तौर पर मामले की जांच फिलहाल छत्तीसगढ़ महिला आयोग कर रही है. शिकायत पर सफाई देने के लिए अंबेडकर अस्पताल के पूर्व अधीक्षक विवेक चौधरी को भी आयोग में नोटिस देकर बुलाया है. महिला आयोग की अध्यक्ष किरणमयी नायक ने बताया कि शिकायत मिलने के बाद पहली सुनवाई के लिए बुधवार को विवेक चौधरी को आयोग के दफ्तर बुलाया गया था. पूर्व अधीक्षक आयोग के सामने उपस्थित भी हुए थे. इसके बाद उनके खिलाफ की गई शिकायत की कॉपी सौंपकर 15 दिनों बाद फिर उपस्थित होकर जवाब प्रस्तुत करने का समय महिला आयोग ने दिया है. 23 सितंबर को फिर से महिला आयोग में मामले की हियरिंग रखी गई है. अब छात्रा के आरोपों पर विवेक चौधरी के जवाब का इंतजार किया जा रहा है.

Tags: Crime Against woman, Medical student

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर