लापता किसान दंपति की लाश जंगल से बरामद, गला रेतकर की गई हत्या

किसान दंपत्ति की हत्या गला रेतकर की गई है. साथ ही इनके हाथों को भी रस्सी से बांधा गया गया था. आंखों पर पट्टी भी बांधी गई थी. मामले की विवेचना छोटेडोंगर पुलिस कर रही है.

किसान दंपत्ति की हत्या गला रेतकर की गई है. साथ ही इनके हाथों को भी रस्सी से बांधा गया गया था. आंखों पर पट्टी भी बांधी गई थी. मामले की विवेचना छोटेडोंगर पुलिस कर रही है.

किसान दंपत्ति की हत्या गला रेतकर की गई है. साथ ही इनके हाथों को भी रस्सी से बांधा गया गया था. आंखों पर पट्टी भी बांधी गई थी. मामले की विवेचना छोटेडोंगर पुलिस कर रही है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले के गौरदंड के किसान दंपति बीती रात से घर से लापता थे, जिनकी लाश शुक्रवार सुबह गांव से 500 मीटर की दूरी पर जंगल एवं सड़क पर मिली है.



बताया जा रहा है कि किसान दंपति की हत्या गला रेतकर की गई है. हालांकि हत्या करने वाले आरोपियों की अब तक शिनाख्त नहीं हुई है. वहीं छोटेडोंगर पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी है. पुलिस प्रथम दृष्टिया इसे आपसी रंजिश के चलते हत्या का मामला मान रही है.



मिली जानकारी के मुताबिक नारायणपुर जिले से 45 किमी छोटेडोंगर थाने के गौरदंड ग्राम के संपत बेलसरिया कृषि का कार्य किया करता था. उसकी पत्नी नीरा बेलसरिया रेडी टू ईट बनाने वाली महिला समूह की अध्यक्ष थी. मृत दंपति की कोई भी संतान नहीं है.





मृत दंपति बीती रात से घर से लापता थे. वहीं, गांव के महुआ बीनने गए एक युवक ने किसान दंपत्ति का शव जंगल एवं सड़क पर पड़ हुआ देखा. इसकी सूचना युवक ने गांव के लोगों को दी, जिसके बाद मामले की रिपोर्ट छोटेडोंगर थाने में दर्ज करवाई गई.
वहीं, किसान दंपत्ति की हत्या गला रेतकर की गई है. साथ ही इनके हाथों को भी रस्सी से बांधा गया गया था. आंखों पर पट्टी भी बांधी गई थी. मामले की विवेचना छोटेडोंगर पुलिस कर रही है और शव को पोस्टमार्टम के लिए नारायणपुर जिला अस्पताल भेजा गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज