• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • Crime Report: हत्या-डकैती में बिहार से आगे छत्तीसगढ़, NCRB की रिपोर्ट में चौंकाने वाले आंकड़े

Crime Report: हत्या-डकैती में बिहार से आगे छत्तीसगढ़, NCRB की रिपोर्ट में चौंकाने वाले आंकड़े

बिहार के मधेपुरा जिले मं पानी से भरे खाई में डूबने से पांच बच्चों की मौत हो गई है (सांकेतिक तस्वीर)

बिहार के मधेपुरा जिले मं पानी से भरे खाई में डूबने से पांच बच्चों की मौत हो गई है (सांकेतिक तस्वीर)

NCRB Report 2020: राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो की रिपोर्ट सामने आई है. 2020 की रिपोर्ट कहती है कि छत्तीसगढ़ हत्या, डकैती और दुष्कर्म के अपराधों में मध्य प्रदेश और बिहार से आगे है. एक लाख की आबादी में यहां हत्या के मामले 3.3% हैं. यही आंकड़ा बिहार में 2.6% है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    रायपुर. छत्तीसगढ़ राज्य के लिए शर्मनाक खबर है. प्रदेश हत्या, डकैती और दुष्कर्म के अपराधों में मध्य प्रदेश और बिहार से आगे निकल गया है. राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (National Crime Record Bureau- NCRB) ने 2020 की रिपोर्ट जारी की है. इसमें पता चला है कि प्रदेश में एक लाख की आबादी में हत्या के मामले 3.3% हैं. यही आंकड़ा बिहार में 2.6% है. अपराध की यह दर मध्य प्रदेश, गुजरात और पंजाब में कम है.

    NCRB की रिपोर्ट के मुताबिक, 2020 में दुष्कर्म की घटनाएं प्रति एक लाख आबादी में जहां 8.3% थीं, वहीं यह दर बिहार में 1.4%, गुजरात में 1.5% और मध्य प्रदेश में 5.8% थी. 2019 के मुकाबले छत्तीसगढ़ में अपराध काफी बढ़ा है. छत्तीसगढ़ में इस साल सामूहिक हत्या के 21, आत्महत्या के 3930 मामले सामने आए. ये आंकड़े 30 जून तक के हैं. विधानसभा में गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने बताया था कि 1 दिसंबर 2018 से इस साल 30 जून तक सामूहिक हत्या के 94 मामले पुलिस ने दर्ज किए. इसी तरह आत्महत्या के 19084 और मानव तस्करी के 111 मामले सामने आए.

    दुष्कर्म की घटनाओं में वृद्धि
    NCRB की रिपोर्ट कहती है कि छत्तीसगढ़ में 2019 में 1036 महिलाओं-युवतियों के साथ दुष्कर्म हुआ. जबकि, 2020 में 1210 मामले सामने आए. इन दो सालों में बिहार में 730 और 806 केस रिकॉर्ड किए गए. पिछले साल गैंगरेप के 8 मामले सामने आए थे.

    देश में प्रतिदिन 77 रेप, 80 हत्याएं
    राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB Data) की तरफ से बुधवार को जारी आंकड़े बताते हैं कि देश में 2020 में हत्याओं में इजाफा हुआ है. हालांकि, 2019 की तुलना में महिलाओं के विरुद्ध अपराधों में कुछ कमी आई है. रिपोर्ट के मुताबिक, बलात्कार (Rape) के सबसे ज्यादा मामले राजस्थान (Rajasthan) में दर्ज किए गए. वहीं, 19 मेट्रो शहरों में अपराध की सूची में लगातार दूसरे वर्ष राजधानी दिल्ली (Delhi) सबसे ऊपर रही. उत्तर प्रदेश (UP) में सर्वाधिक हत्याएं हुईं. एनसीआरबी के आंकड़ों के मुताबिक, पूरे देश में 2020 में बलात्कार के प्रतिदिन औसतन करीब 77 मामले दर्ज किए गए.

    सबसे ज्यादा दुष्कर्म की वारदातें राजस्थान, यूपी में
    पिछले साल दुष्कर्म के कुल 28,046 मामले दर्ज किए गए. देश में ऐसे सबसे अधिक मामले राजस्थान में और दूसरे नंबर पर उत्तर प्रदेश में दर्ज किए गए. हालांकि, आंकड़े बताते हैं कि देश में अपहरण के मामलों में कमी देखी गई है. केंद्रीय गृह मंत्रालय के तहत आने वाले एनसीआरबी ने कहा कि पिछले साल पूरे देश में महिलाओं के विरूद्ध अपराध के कुल 3,71,503 मामले दर्ज किए गए जो 2019 में 4,05,326 थे और 2018 में 3,78,236 थे. एनसीआरबी के आंकड़ों के अनुसार, 2020 में महिलाओं के विरूद्ध अपराध के मामलों में से 28,046 बलात्कार की घटनाएं थी, जिनमें 28,153 पीड़िताएं हैं. पिछले साल कोविड-19 के कारण लॉकडाउन लगाया गया था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज