Home /News /chhattisgarh /

आदिवासी नृत्य महोत्सव 2021: 3 दिन तक दिखेगी आदिवासी संस्कृति की झलक, 7 देशों के कलाकार करेंगे शिरकत

आदिवासी नृत्य महोत्सव 2021: 3 दिन तक दिखेगी आदिवासी संस्कृति की झलक, 7 देशों के कलाकार करेंगे शिरकत

राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव में कई देशों के कलाकार शामिल होंगे.

राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव में कई देशों के कलाकार शामिल होंगे.

National Tribal Dance Festival 2021: छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर (Raipur) में 28 से 30 अक्टूबर तक राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव का आयोजन होगा. इसमें सात देशों के नर्तक दलों सहित  27  राज्यों और छह केंद्र शासित प्रदेशों के 59 टीम शामिल होगी. 

अधिक पढ़ें ...

रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की राजधानी रायपुर (Raipur) के साइंस कॉलेज मैदान में राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव (Adivasi Nriya Mahotsav) को लेकर भव्य तैयारी हो रही है. महोत्सव 28 से 30 अक्टूबर तक चलेगा. इस महा महोत्सव में सात देशों के नर्तक दलों सहित  27  राज्यों और  छह केंद्र शासित प्रदेशों के 59 आदिवासी नर्तक दल इसमें शामिल हो रहे हैं.  इन नर्तक दलों में लगभग एक हजार कलाकार शामिल होंगे, जिसमें 63  विदेशी कलाकार  होंग. आयोजन स्थल पर विदेशों और देश के अन्य राज्यों  और केंद्र शासित  प्रदेशों से आने वाले नृत्य दलों और अन्य अतिथियों  के रूकने की व्यवस्था से लेकर परिवहन व्यवस्था ,विभिन्न कार्यक्रमों को लेकर भव्य तैयारियां की जा रही है.  इस दौरान प्रतिदिन सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे.

हर दिन 20-20 आदिवासी नर्तक दलों द्वारा अपनी प्रस्तुति दी जाएगी. महोत्सव के दौरान आदिवासियों की जीवन शैली, आदिवासी संस्कृति पर केन्द्रित प्रदर्शनी लगाई जाएगी तथा संगोष्ठी का आयोजन किया जाएगा. प्रदर्शनी में विभिन्न विभागों के स्टॉल भी होंगे. प्रदर्शनी में हाथकरघा वस्त्रों और हस्तशिल्प के स्टॉल भी लगाए जाएंगे. आयोजन स्थल पर ट्राइबल डांस एरिया और स्पीकर लाउंज के साथ-साथ लाइव शोकेस एरिया, ट्राइबल इंस्पायर्ड एग्जीबिट, शिल्प-ग्राम और फूड-एरिया भी होगा.

विदेशों से छत्तीसगढ़ पहुंचेंगे नर्तक दल

इस बीच नृत्य महोत्सव के लिए देश-विदेश के नर्तक दल पहुंचने लगे हैं. सबसे पहले  विदेशी दल नाइजीरिया से पहुंचा. युगांडा, श्रीलंका, उज्बेकिस्तान, स्वाजीलैंड, मोरक्को, माले और फिलिस्तीन की टीम पहुंच रही है. छत्तीसगढ़ में यह दूसरा आयोजन है. इन टीमों को ठहरने के लिए अलग-अलग होटलों में व्यवस्था की गई है. पूरे आयोजन की सुरक्षा और अन्य व्यवस्था के लिए पांच हजार से अधिक पुलिस व अधिकारियों की टीम तैनात की गई.

दूसरे राज्यों के मुख्यमंत्रियों को भी न्यौता

छत्तीसगढ़ की सरकार की तरफ से दूसरे राज्यों के मुख्यमंत्री और मंत्रियों को भी इसमें शामिल होने के लिए न्यौता दिया गया है. छत्तीसगढ़ में इसकी तैयारी जोरों पर चल रही है. वहीं छत्तीसगढ़ आए कलाकार काफी उत्साहित हैं. उनका कहना है कि यह एक यूनिक कार्यक्रम है.

इन देशों के कलाकर होंगे शामिल
इस तीन दिवसीय उत्सव में उज्बेकिस्तान, नाइजीरिया, श्रीलंका, युगांडा, सीरिया, माली, फिलिस्तीन और किंगडम ऑफ एस्वातिनी सहित कई देशों के कलाकार शामिल होंगे. वहीं, छत्तीसगढ़ के आदिवासी अंचल बस्तर, दंतेवाड़ा, कोरिया, कोरबा, बिलासपुर, गरियाबंद, मैनपुर, धुरा, धमतरी, सरगुजा और जशपुर के कलाकारा भी इस कार्यक्रम में अपना विशिष्ट इतिहास, संस्कृति और परंपराएं पेश करेंगे. इन विदेशी कलाकारों की अगवाई के लिए खुद संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत एयरपोर्ट पहुंच रहे हैं. उनका कहना है कि इस नृत्य महोत्सव से छत्तीसगढ़ को एक नई पहचान मिलेगी. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी लगातार इस आयोजन की समीक्षा कर रहे हैं. 2019 में जो आयोजन हुआ था उसकी देश दुनिया में तारीफ हुई थी.

ये भी पढ़ें: एक्ट्रेस सोनिका हांडा मुश्किल में! जाति सूचक शब्द के इस्तेमाल पर भड़का आदिवासी समाज, कार्रवाई की मांग

27 राज्यों को कलाकार होंगे शामिल

2019 में आयोजित राष्ट्रीय जनजातीय नृत्य महोत्सव के पहले संस्करण में भारत के 25 राज्यों और छह अतिथि देशों के आदिवासी समुदायों की भागीदारी और एक लाख लोगों की उपस्थिति देखी गई थी. इस साल के महोत्सव में 27 राज्यों में से छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, मणिपुर, कर्नाटक, मध्य प्रदेश और जम्मू-कश्मीर की जनजातियों के विशेष नृत्य शामिल होंगे। नृत्य प्रदर्शन दो श्रेणियों में रखा गया है.

Tags: Chhattisgarh news, Culture, Dance, Raipur news, Tribal, Tribal cultural

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर