Assembly Banner 2021

छत्तीसगढ़ की आदिवासी संस्कृति को पहचान देने होगा नेशनल ट्राइबल डांस फेस्टिवल

छत्तीसगढ़ की अनोखी आदिवासी संस्कृति व लोककला को राष्ट्रीय पहचान देने राज्य सरकार बड़ा आयोजन करने जा रही है. फाइल फोटो.

छत्तीसगढ़ की अनोखी आदिवासी संस्कृति व लोककला को राष्ट्रीय पहचान देने राज्य सरकार बड़ा आयोजन करने जा रही है. फाइल फोटो.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की अनोखी आदिवासी संस्कृति (Tribal Culture) व लोककला को राष्ट्रीय पहचान देने राज्य सरकार बड़ा आयोजन करने जा रही है.

  • Share this:
रायपुर: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की अनोखी आदिवासी संस्कृति (Tribal Culture) व लोककला को राष्ट्रीय पहचान देने राज्य सरकार बड़ा आयोजन करने जा रही है. इसी साल दिसंबर महीने में प्रदेश में नेशनल ट्राइबल डांस फेस्टिवल (National Tribal Dance Festival) का आयोजन किया जाएगा. छत्तीसगढ़ में पहली बार इस तरह का आयोजन करने का निर्णय राज्य सरकार ने लिया है. इस कार्यक्रम से सरकार जनजातीय और लोक नृत्यों को राष्ट्रय स्तर का मंच देने की कोशिश कर रही है. साथ ही इस तरह के आयोजन से राज्य में पर्यटन व्यवस्था बेहतर करने की भी योजना सरकार की है.

नेशनल ट्राइबल डांस फेस्टिवल की तरह ही इसी तरह छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की खेल प्रतिभाओं को निखारने के लिए खेल महोत्सव का आयोजन किया जाएगा. मिली जानकारी के मुताबिक देश के जनजाति बाहुल्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी अतिथियों को छत्तीसगढ़ में आमंत्रित करने की योजना बनाई जा रही है. इसमें शामिल लोक कलाकारों को छत्तीसगढ़ के पर्यटन स्थलों का भ्रमण कराया जाएगा.

सीएम ने ली बैठक
दिल्ली से लौटने के बाद सीएम भूपेश बघेल ने बीते शनिवार को अपने निवास कार्यालय में राज्य में नेशनल ट्राइबल डांस फेस्टिवल और खेल महोत्सव के आयोजन के संबंध में बैठक ली. सीएम बघेल ने तैयारियों के संबंध में अधिकारियों को शीघ्र समय-सारणी तय कर ब्लाक और जिला स्तर पर प्रतियोगिताएं आयोजित कराने के निर्देश दिए हैं. नेशनल ट्राइबल डांस फेस्टिवल की फायनल प्रतियोगिताएं 28 और 29 दिसंबर को राजधानी रायपुर के साईंस कॉलेज मैदान में आयोजित करने की योजना है. वहीं खेल महोत्सव की राज्य स्तरीय स्पर्धाएं राजधानी रायपुर के विभिन्न खेल मैदानों में आयोजित होंगी. समापन कार्यक्रम का आयोजन स्वामी विवेकानंद की जयंती 12 जनवरी होगा.
इस थीम पर होगी प्रतियोगिता


सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि आयोजन के लिए नई फसल आने, विवाह आदि अन्य अवसरों पर आयोजित होने वाले पारंपरिक लोकनृत्यों की थीम पर जिला और राज्य स्तर पर प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी. जिला स्तर पर चयनित दल राज्य स्तर पर अपनी कला का प्रदर्शन करेंगे. राज्य स्तर पर प्रथम, द्वितीय और तृतीय स्थान प्राप्त दलों को आकर्षक पुरस्कार के साथ ही शामिल सभी दलों को सांत्वना पुरस्कार और प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी.

ये भी पढ़ें: 
नान मामले में भट्ट के बयान पर कांग्रेस ने बीजेपी को घेरा, डॉ. रमन सिंह को बताया...  

दंतेवाड़ा उपचुनाव: कांग्रेस स्टार प्रचारों की लिस्ट जारी, छत्तीसगढ़ आएंगे ये खास चेहरे   
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज