छत्तीसगढ़ में महिला प्रत्याशियों पर कितना भरोसा दिखाएंगी पार्टियां?

प्रतीकात्मक चित्र.
प्रतीकात्मक चित्र.

छत्तीसगढ़ में महिला व पु​रुष वोटर्स की संख्या लगभग बराबर. कुल मतदाताओं में 92 लाख 95 हजार महिला व लगभग 92 लाख 98 हजार पुरुष वोटर्स हैं.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ में महिला व पु​रुष वोटर्स की संख्या लगभग बराबर. कुल मतदाताओं में 92 लाख 95 हजार महिला व लगभग 92 लाख 98 हजार पुरुष वोटर्स हैं, लेकिन पिछले चुनावों की बात करें तो सभी पार्टियों ने महिलाओं पर ज्यादा भरोसा नहीं दिखाया. साल 2003 के चुनाव में भाजपा से 6 और कांग्रेस 8 महिला प्रत्याशियों को टिकट मिला. भाजपा की चार को जीत मिली. जबकि कांग्रेस से एक भी महिला प्रत्याशी का खाता नहीं खुला.

यदि बात साल 2008 के विधानसभा चुनाव की बात करें तो भाजपा और कांग्रेस ने 10—10 महिला प्रत्याशियों को टिकट दिया था. इसमें से भाजपा से 6 व कांग्रेस 4 ने जीत दर्ज की थी. जबकि साल 2013 में भाजपा से 11 व कांग्रेस ने 14 महिला प्रत्याशियों को मैदान में उतारा था. इसमें भाजपा की 6 व कांग्रेस से 5 महिला प्रत्याशी जीतकर विधानसभा तक पहुंची. अब इस विधानसभा चुनाव में राजनीतिक दलो में महिलाएं भी अपना दांव आजमाने की तैयारी में हैं.

लोकतंत्र के महापर्व में महिलाओं की हिस्सेदारी अहम रहती है. साल 2013 में 77.32 फीसदी महिलाओं ने मतदान में हिस्सा लिया और पुरुषों का प्रतिशत 76.93 फीसदी रहा था. अगर सूबे की राजनीतिक दलों की महिला प्रत्याशियों को देखें तो साल 2013 में 119 महिला प्रत्याशी चुनावी मैदान में थीं. लेकिन केवल 10 ही चुनाव जीत पाने में कामयाब रही थीं. साल 2008 में 131 महिला प्रत्याशी थी, जिसमें 11 जीतीं थी. साल 2003 में 94 महिला प्रत्याशी थी जिसमें केवल 5 ही चुनाव जीत पायी थीं.



ये भी पढ़ें: कांग्रेस ने जारी की 40 स्टार प्रचारकों की सूची, छत्तीसगढ़ के ये नेता शामिल 
अब बात यदि साल 2018 के विधानसभा चुनाव में महिलाओं को टिकट देने की करें तो प्रदेश में दोनों राष्ट्रीय पार्टी भाजपा और कांग्रेस के अलावा क्षेत्रीय दल भी महिलाओं को तवज्जों देने की बात कह रहे हैं. कांग्रेस की प्रवक्ता वंदना राजपूत का कहना है कि इस बार महिलाओं को जोड़ने और अधिक से अधिक महिला प्रत्याशी बनाई जाएं, इसको लेकर पार्टी से चर्चा चल रही है. भाजपा प्रवक्ता पूजा विधानी का कहना है कि उनकी पार्टी महिलाओं को हरदम ही मौका देती है. इस बार भी जीताउ महिलाओं को जरूर मौका मिलेगा.

इस चुनाव में तीसरा मोर्चा के रूप में खड़ी पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की पार्टी जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे ने भी महिलाओं को चुनाव में तवज्जो देने की बात कही है. पार्टी के महिला विंग की प्रदेश अध्यक्ष सीमा कौशिक का कहना है कि पार्टी ने दमदार महिला नेत्रियों को चुनाव में उतारने का निर्णय लिया. बहरहाल देखने वाली बात ये होगी कि इस बार के चुनाव में पार्टियां कितनी महिलाओं को चुनाव मैदान में उतरने का  मौका देंगी.

ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ की राजनीति में वायरल आॅडियो ने मचाई खलबली, जानिए पूरा मामला 

ये भी पढ़ें: बसपा आज जारी कर सकती है छह सीटों पर अपने प्रत्याशियों के नाम  
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज