'सरकार ने माना, किराया बढ़ाना जायज़', बस मालिकों ने कहा, अब छत्तीसगढ़ में फिर दौड़ेंगी बसें

छत्तीसगढ़ में बसों को बंद किए जाने का फैसला वापस लिया गया.

छत्तीसगढ़ यातायात महासंघ ने बसें बंद करने का जो फैसला लिया था, वह वा​पस ले लिया है क्योंकि परिवहन मंत्री के साथ बात बन गई है. बस मालिकों ने कहा है कि पेट्रोल डीज़ल के बढ़ते दामों के चलते किराया बढ़ाना जायज़ है.

  • Share this:
    आदित्य राय
    रायपुर. छत्तीसगढ़ में सड़क परिवहन बुधवार को फिर एक बार सुचारू रूप से शुरू हो जाएगा. किराया वृद्धि को लेकर मंगलवार से बंद की गई निजी बस सेवाएं आज से फिर से बहाल हो जाएंगी. मंगलवार रात परिवहन मंत्री और यातायात महासंघ के बीच एक अहम बैठक के बाद संघ ने आज से फिर बस सेवा शुरू करने का निर्णय लिया. पहले सरकार ने किराया बढ़ाने पर रोक लगाई थी, लेकिन अब महासंघ ने दावा किया है कि बातचीत के बाद सरकार ने किराया बढ़ाने पर सहमति जता दी है इसलिए बसें फिर शुरू की जा रही हैं.

    लगातार बढ़ रहे पेट्रोल डीज़ल के दामों के चलते छत्तीसगढ़ में यातायात महासंघ पिछले कई दिनों से यात्री बसों का किराया बढ़ाने की मांग कर रहा था. लेकिन सरकार ने इस पर रोक लगा रखी थी, जिसके बाद कल से महासंघ के निजी ऑपरेटरों ने बसों को रोककर सेवाएं बंद कर दी थीं. कल रात महासंघ के लोगो की परिवहन मंत्री मोहम्मद अकबर से मुलाकात हुई, जिसके बाद उन्होंने बस सेवाएं शुरू करने का निर्णय लिया. गौरतलब है कि टकराव की मुख्‍य वजह छत्‍तीसगढ़ सरकार का वह फैसला था जिसमें किराया बढ़ाने पर ही रोक लगाई थी. अब किराया किस फॉर्मूले के तहत कितना बढ़ेगा इस पर बाद में निर्णय लिया जाएगा. आम राय जानने की बात भी कही गई है.

    आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में पेट्रोल के दाम बुधवार को 99 रुपये प्रति लीटर से ज़्यादा हैं, जबकि बिलासपुर में पेट्रोल के दाम 100 रुपये से ज़्यादा. छत्तीसगढ़ के कई ज़िलों में पेट्रोल के दाम 100 रुपये का आंकड़ा पार कर चुके हैं और पड़ोसी राज्य मध्य प्रदेश की राजधानी में पेट्रोल करीब 110 रुपये प्रति लीटर हो चुका है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.